केंद्रीय मंत्री के लापता होने का पोस्टर लगने के बाद पहुंचे सांसद भाई, विरोध के बीच बांटे 5-5 हजार रुपये

केंद्रीय मंत्री के लापता होने का पोस्टर लगने के बाद पहुंचे सांसद भाई, विरोध के बीच बांटे 5-5 हजार रुपये

HAJIPUR : वैशाली जिले के हरिवंशपुर गांव के लोगों ने जहां केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को खोजने के लिए बैनर और पोस्टर लगाए गए थे। उस गांव में हाजीपुर के सांसद और रामविलास पासवान के भाई पशुपति कुमार पारस रविवार को पहुंचे और चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों के परिवारों को दवाइयां और प्रति परिवार को 5000-5000 रुपए वितरित किए। गांव वालों ने शनिवार को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को ढूंढ़कर लाने वालों को 15000 रुपए ईनाम देने की घोषणा की थी। बता दें कि हरिवंशपुर के ग्रामीण चमकी बुखार से हुए अपने बच्चों की मौत को लेकर स्थानीय प्रतिनिधि से नाराज हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि दुख की इस घड़ी में उनके जन प्रतिनिधि सुध लेने नहीं आए। 

लालगंज के लोजपा विधायक भी रविवार को हरिवंशपुर गांव पहुंचे। गांवों ने उनके खिलाफ प्रदर्शन किया और नारे लगाए। उनलोगों ने एमएलए और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के गायब होने के पोस्टर लगाए थे। हाजीपुर के एमपी पारस पासवान ने भी आज इस गांव का दौरा किया। गांव वालों का कहना था कि यहां 7 बच्चे मर गए, लेकिन कोई सांसद या विधायक नहीं आया।

हरिवंशपुर गांव वालों ने लालगंज से एलजेपी एमएलए राज कुमार साह जैसे ही हरिवंशपुर गांव लोगों के स्वास्थ्य के बारे में जानने के लिए पहुंचे। लोगों ने उनको बंधक बना लिया और लापता होने के पोस्टर के साथ प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि वह इस इलाके में कभी नहीं आए। बैनर पर लोगों ने लिखा, 'केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान लापता हैं, खोजने वाले को 15000 रुपए का इनाम। स्थानीय विधायक का भी अता-पता नहीं है।' 

हरिवंशपुर गांव के निवासी कई बच्चों की मौत से हिल गए हैं,  अपने सांसद और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को इस घंड़ी में उनके साथ नहीं होने के लिए 15,000 रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। गांव वालों ने पासवान के खिलाफ अपना गुस्सा व्यक्त करने के लिए शनिवार को बैनर और पोस्टर चिपकाए। बता दें कि ग्रामीण चमकी बुखार से हुए अपने बच्चों की मौत को लेकर स्थानीय सांसद और विधायक से नाराज हैं।

Find Us on Facebook

Trending News