अब क्या कीजिएगा मुख्यमंत्री जी, खेसारी लाल यादव कह रहे हैं- ‘ब्लैक में दारू लाएंगे भले छपरा में पकड़ाएंगे’, ठीक है

अब क्या कीजिएगा मुख्यमंत्री जी, खेसारी लाल यादव कह रहे हैं- ‘ब्लैक में दारू लाएंगे भले छपरा में पकड़ाएंगे’, ठीक है

N4N DESK: बिहार में शराबबंदी है. शराबबंदी को लेकर सीएम नीतीश लगातार अपने मंच से भाषण भी देते रहते हैं. लेकिन उनके सामने एक नई चुनौती है. होली से ठीक पहले खेसारी लाल यादव का एक गाना काफी ट्रेंड में है. गाने के बोल हैं ‘ब्लैक में दारू लाएंगे भले छपरा में पकड़ाएंगे’, ठीक है.

खेसारी लाल यादव भोजपुरी सिनेमा के चर्चित चेहरा हैं. राजनीति में आने की ख्वाहिश भी रखते है. कुछ दिनों पहले पटना जंक्शन पर कंबल भी बांट रहे थे. लेकिन उनका ये गाना (ब्लैक में दारू लाएंगे भले छपरा में पकड़ाएंगे’, ठीक है.) शराबबंदी कानून के लिए कितना अहित कर सकता है ये एक बड़ा सवाल है. गाने के बोल पर यदि गौर करें तो इस गाने ने शराबबंदी की पोल खोलकर रख दी है.

सीएम नीतीश मंच से लगातार कह रहे हैं कि खुद तो मत ही पीजिए जो लोग दारू पीते हैं उनके बारे में सूचना भी दीजिए. अब ऐसे में कोई कलाकार इस तरह के गाने गाता है तो बिहार में शराबबंदी कैसे लागू हो सकती है. गाने में दारू को कैसे ब्लैक में खरीदना है इसकी भी जानकारी दी गई है. खेसारी लाल यादव के द्वारा गाए गए गाने की पूरी लाइन: ब्लैक में दारू लाएंगे भले छपरा में पकड़ाएंगे’, ठीक है. बॉर्डर में डर बा, चेकिंग लम्हर बा ठीक है. बाकि दू हजरिया के बहुते कदर बा. ठीक है. पुलिस गोसाई, धरियेही कलाई, बोतल एगो देके कहब, तूहो पीला भाई. ठीक है. हाथ जोड़ेंगे विनती करेंगे गोड़ धरके लटक हम जाएंगे. वोहू से न मानेगे तो जेब उनका गरमाएंगे. ब्लैक में दारू लाएंगे भले छपरा में पकड़ाएंगे’, ठीक है

Find Us on Facebook

Trending News