व्यवसायी वर्ग के साथ अपराध पर राष्ट्रीय वैश्य महासभा ने खोला मोर्चा, चरणबद्ध आन्दोलन का किया ऐलान

व्यवसायी वर्ग के साथ अपराध पर राष्ट्रीय वैश्य महासभा ने खोला मोर्चा, चरणबद्ध आन्दोलन का किया ऐलान

PATNA : राष्ट्रीय वैश्य महासभा बिहार प्रदेश की ओर से एक दिवसीय चिंतन बैठक का आयोजन किया गया. जिसमें प्रदेश कार्यकारिणी सहित विभिन्न जिलों के अध्यक्षों एवं प्रखंड अध्यक्ष शामिल हुए. बैठक की अध्यक्षता विधायक और महासभा के प्रदेश अध्यक्ष समीर महासेठ, संचालन कार्यकारी अध्यक्ष पी के चौधरी एवं आगत अतिथियों का स्वागत युवाध्यक्ष मंजीत आनन्द साहू ने एवं प्रस्ताव प्रदेश मुख्य प्रवक्ता शिवशंकर विक्रांत ने पढकर सर्वसम्मति से पारित कराया. प्रदेश भर में वैश्य - व्यवसायी वर्ग के ऊपर लगातार बढ़ते जा रहे हमले हत्या, लूट, फिरौती अपहरण, बलात्कार जैसी गम्भीर घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष विधायक विजेंद्र चौधरी एवं प्रदेश अध्यक्ष विधायक समीर महासेठ ने संयुक्त रूप से कहा की राज्य सरकार की लचर कानून व्यवस्था के कारण आज हर शहर हर बाजार के भीतर डर और आतंक का माहौल है. एक तरफ गुंडे और अपराधी तो दूसरे तरफ सरकारी नीतियां और अफशरशाही ने वैश्य -    व्यवसायियों का जीना मुहाल कर रखा है. 

आज भी चाहे बड़ा हो या छोटा एवं मध्यम व्यापारी वर्ग सभी लॉक डाउन, नोटबन्दी जैसी काले कारनामों के कारण अपना व्यापार पटरी पर नहीं ला पाया है. इसके लिए सरकारी स्तर पर किसी भी प्रकार की सहायता योजना नहीं होना जाहिर करता है कि चाहे राज्य सरकार हो केंद्र की सरकार किसी को रत्ती भर भी वैश्य व्यवसायियों की चिंता नहीं है. बैठक में सर्व सम्मति  से राज्य सरकार से मांग किया गया है कि कलवार, सूड़ी, रौनियार,पोद्दार, स्वर्णकार, वर्णवाल जातियों को अतिपिछड़ी जातियों में शामिल किया जाये. साथ ही अतिपिछड़े वर्ग को मिलने वाले आरक्षण के कोटे को बढ़ाने एवं व्यावसायिक आयोग गठन करने की मांग की गयी. साथ ही सरकार से मांग किया गया है कि व्यवसायियो को  अपने जान माल की रक्षा हेतु उन्हें हथियार का लाइसेंस बिना कोई बाधा के प्रदान किया जाय. राजधानी पटना में शहीद बृजबिहारी प्रसाद, दुःखन राम, एवं सीता राम केसरी जी की आदमकद प्रतिमा स्थापित किया जाय. 

 महासभा के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष पी.के.चौधरी एवं प्रदेश युवा अध्यक्ष मंजीत आनन्द साहू ने कहा कि राष्ट्रीय वैश्य महासभा वैश्य - व्यवसायियों की रक्षा सुरक्षा के साथ - साथ राजनीति में समुचित प्रतिनिधित्व को लेकर बेहद गम्भीर है. इसी को लेकर फरवरी माह से महासभा का महाअभियान शहर से लेकर पंचायत तक संगठन निर्माण की प्रक्रिया शुरू करने जा रही है. जिसके तहत वैश्य - व्यवसायियों एवं अतिपिछड़े वर्ग को संगठित कर उन्हें मुकम्मल रक्षा - सुरक्षा एवं समुचित प्रतिनिधित्व हासिल हो. इसके लिए लगातार एक कार्ययोजना पर काम किया जायेगा. राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सतीश गुप्ता ने कहा कि सर्वाधिक आबादी के बावजूद वैश्य - अतिपिछड़े वर्ग के लोगों का उचित संख्या में लोकसभा, राज्यसभा , विधानसभा एवं विधानपरिषद में नहीं होना संविधान और लोकतंत्र की बुनियादी ढांचे के विरुद्ध है. आजादी के 7 दशक बाद भी सामाजिक और राजनैतिक असंतुलन का होना सामाजिक राजनैतिक भेदभाव को जग जाहिर करता है. 

 बैठक में राष्ट्रीय महासचिव डॉ प्रेम कुमार गुप्ता, डॉ मुनीलाल गुप्ता,  प्रदेश महासचिव डॉ  प्रकाश चंद्रा, प्रदेश मुख्य प्रवक्ता शिवशंकर विक्रांत,  ललन साह,  विजय प्रसाद, जयप्रकाश चौधरी, सोनू मुखिया, मोहन साह,धर्मेन्द्र साह, बबलू गुप्ता, अर्जुन चौधरी, कन्हैया पोद्दार, चंदन बागची, नरेश जायसवाल, शत्रुघ्न चौधरी, सुरेन्द्र महतो, राधेश्याम प्रसाद, कामता प्रसाद, जितेन्द्र साहू, राधेश्याम प्रसाद, विनय गुड्डू, निरंजन चौरसिया, राजगौरव टाईगर, राजकुमार गुप्ता, संजय जायसवाल, पंकज जायसवाल, राजेन्द्र कुमार राजू वियाहुत, प्रमोद गुप्ता, रामाधार प्रसाद, मुन्ना जायसवाल, राजीव रंजन, दिवाकर गुप्ता, जयकृष्ण भगत,अमित भगत, गणेश चौधरी, राजेश केशरी, संतोष केशरी, राकेश जायसवाल, उदय शंकर साह, मधुसूदन जायसवाल, दिलीप सर्राफ एवं पूरे बिहार से आये वैश्य समाज के लोग उपस्थित थे. 

Find Us on Facebook

Trending News