चीता बटालियन ने संभाला मोर्चा, अब पटना में अपराधियों का काउंटडाउन शुरु

चीता बटालियन ने संभाला मोर्चा, अब पटना में अपराधियों का काउंटडाउन शुरु

PATNA :  पटना में आतंक मचाने वाले अपराधियों के लिए बुरी खबर है। अब किसी भी घटना को अंजाम देकर वे बच नहीं पायेंगे। या तो सलाखों के पीछे होंगे या फिर उपर पहुंचा दिये जायेंगे। 

पटना में बढ़ते अपराध को देखते हुए पुलिस विभाग ने एक बड़ा फैसला किया है। पटना जिले के अति अपराधग्रस्त इलाके में चीता बटालियन को तैनात करने का निर्णय लिया है। अब पटना पश्चिम का पूरा इलाका चीता बटालियन के साये में होगा।

पटना सेंट्रल रेंज के डीआईजी राजेश कुमार ने NEWS4NATION को बताया कि पटना जिले के पश्चिमी भाग में अपराधियों के खौफ और डर का पूरी तरह से खात्मा किया जायेगा। 

उन्होंने बताया कि पटना पश्चिमी में अपराधियों के खात्मे और लोगों के अंदर से उनके खौफ को खत्म करने के लिए एक स्पेशल टीम का गठन किया जा रहा है। एएसपी ऑपरेशन के नेतृत्व में गठित इस टीम में एसटीएफ की ऑपरेशन यूनिट, चिता बटालियन और स्पेशल कमांडोज के जवान शामिल रहेंगे। 

यह टीम पूरे इलाके पर अपनी नजर रखेगी। इसके साथ ही इस क्षेत्र में जितने भी थाने हैं वे एक्टिव मोड में काम करेंगे। थानेदारों को अपने-अपने इलाके के सभी अपराधियों और कौन उन्हें पनाह दे रहा है इसकी लिस्ट बनाने का निर्देश दिया गया है।  

डीआईजी ने कहा कि अपराधियों के खात्मे की पूरी तैयारी कर ली गई है। वहीं उन्हें पनाह देने वालों को भी बख्क्षा नहीं जायेगा। 

बता दें कि पटना जिले का पश्चिमी क्षेत्र इनदिनों अपराधियों के निशाने पर है। खासकर बिहटा और पालीगंज इलाके में अपराध अपने चरम पर है। 

बीती रात डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय और डीआईजी राजेश कुमार ने इन इलाकों का औचक नीरिक्षण किया था। देर रात तक दोनो अधिकारी इन इलाकों के थानों का नीरिक्षण करते रहे थे और अपराध और अपराधियों पर नकेल को लेकर क्या कार्रवाई की जा रही इसका जायजा लिया। 

डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डे ने सख्त हिदायत देते हुए बिहटा पुलिस को चेताया है कि काम मे लापरवाही कतई बर्दाश्त नही किया जाएगा और काम ऐसा कीजिए कि अपराधी भागते हुए दिखाई दें।

कुंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News