चेलवा गिरोह के पांच सदस्य अरेस्ट, बाइक और कारतूस बरामद, कई सालों से दे रहा था पुलिस को चकमा

चेलवा गिरोह के पांच सदस्य अरेस्ट, बाइक और कारतूस बरामद, कई सालों से दे रहा था पुलिस को चकमा

कैमूर : जिला के मोहनिया अनुमंडल  पुलिस को गुरुवार की रात बड़ी सफलता हाथ लगी. लूट कांड की घटनाओं को अंजाम देकर पुलिस की नाक में दम करने वाले अंतर राज्यीय चेलवा गिरोह के सरगना सहित पांच अपराधियों को पुलिस ने धर दबोचा है.  इनके पास से लूट की चार बाइक, पांच मोबाइल, दो सिम और दो जिंदा कारतूस बरामद हुआ है.

गिरफ्तार अपराधियों में दो साल से फरार चेलवा गिरोह का सरगना पानापुर गांव निवासी गोलू सिंह उर्फ विनीत सिंह, रामगढ़ के बड़ौरा गांव का कृष्णा यादव, बंदीपुर गांव का शिवम कुमार तिवारी उर्फ झम्मू तिवारी, सूरजपुरा निवासी उमेश कुमार व यूपी के चंदौली जिला के थाना काशीनगर क्षेत्र के सनहता गांव के नितेश कुमार शामिल है.

पुलिस अधीक्षक दिलनवाज अहमद ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से मोहनियां अनुमंडल में लगातार मोटरसाइकिल एवं कैश लूट की घटनाएं हो रही थी. जिसे पकड़ने के लिए मोहनियां के डीएसपी रघुनाथ सिंह के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया था. जिसमें कई पुलिसकर्मी शामिल थे. वैज्ञानिक अनुसंधान के आधार पर गिरोह में शामिल अपराधियों को चिन्हित कर सरगना सहित चार अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया गया.

 गिरफ्तार अपराधियों ने अपनी संलिप्तता को स्वीकार कर लिया है. अपराधियों ने बताया कि यूपी के बॉर्डर और बिहार के विभिन्न थाना क्षेत्रों में उपरोक्त लूटी गई बाइक,मोबाइल व सिम का प्रयोग किया जाता था.यह अंतरराज्यीय लुटेरा गिरोह है. जिसमें एक दर्जन से अधिक सदस्य हैं. यह चेलवा गिरोह के नाम से जाना जाता है. 2017 में इस गिरोह ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय गया रेलखंड पर अवस्थित भभुआ रोड स्टेशन पर एक पशु कारोबारी की गोली मारकर हत्या कर दी थी.जिसके बाद से यह गिरोह फरार चल रहा था.  

Find Us on Facebook

Trending News