नहाय खाय के साथ आज से छठ महापर्व हो रहा शुरू, 31 अक्टूबर को उदीयमान सूर्य को दिया जाएगा अर्घ्य

नहाय खाय के साथ आज से छठ महापर्व हो रहा शुरू, 31 अक्टूबर को उदीयमान सूर्य को दिया जाएगा अर्घ्य

पटना. दो साल बाद इस साल छठ महापर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। आज से नहाय खाय के साथ छठ महापर्व शुरू हो रहा है। 29 अक्टूबर को खरना मनाया जाएगा। 30 को अस्ताचलगामी यानी डूबते हुए सूर्य देव को व्रती अर्घ्य देंगे। 31 अक्टूबर को उदीयमान यानी उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दे कर छठ व्रत का समापन हो जाएगा।

कोरोना की वजह से इस बार दो साल बाद पूरे उल्लास से छठ मनाया जाएगा। छठ को लेकर बाजार के साथ ही घाटों तक पर चहल-पहल शुरू हो चुकी है। इस बार 16 घाटों पर सूर्य को अर्घ्य नहीं दिया जाएगा। 16 घाटों को खतरनाक घाट माना गया है। इसके लिए कल ही पटना जिला प्रशासन ने दिशा निर्देश जारी किया था। वहीं इस बार घाटों पर छठ व्रतियों के लिए खास इंतजाम भी किये जा रहे हैं।

शनिवार को खरना है। इस दिन व्रती संध्या में आम की लकड़ी से मिट्टी के बने चूल्हे पर गुड़ का खीर बना कर भोग अर्पण करती हैं और प्रसाद के रूप में इसे ग्रहण करती है। इसके साथ ही व्रतियों का 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू हो जाता है। इससे एक दिन पूर्व सोमवार को नहाय खाय के दिन महिलाएं सूर्योदय से पूर्व स्नान कर नए वस्त्र धारण कर पूजा करने के उपरांत चने की दाल कद्दू की सब्जी और चावल का प्रसाद ग्रहण करेंगी।

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी पर शाम में व्रती अस्ताचलगामी सूर्यदेव को प्रथम अर्घ्य अर्पित करेंगे। अर्घ्य अर्पित करने से पूर्व व्रती जल में खड़े होकर आदिदेव भुवन भास्कर को नमन कर एवं परिवार, समाज की सुख-शांति के लिए मंगल कामना करेंगे। इस साल छठ महापर्व में सूर्यदेव को पहला अर्घ्य 30 अक्टूबर, रविवार को दिया जाएगा। इस दिन सूर्योदय समय छठ पूजा के दिन- 06:31 ए एम व सूर्यास्त समय छठ पूजा के दिन- 05:38 पी एम रहेगा।

Find Us on Facebook

Trending News