इंटर में रजिस्ट्रेशन के नाम पर छात्रों से चार लाख की अवैध वसूली, शिकायत पर भी नहीं हुई कार्रवाई

इंटर में रजिस्ट्रेशन के नाम पर छात्रों से चार लाख की अवैध वसूली, शिकायत पर भी नहीं हुई कार्रवाई

MOTIHARI : कोरोना संक्रमण से जहाँ सभी आम अवाम परेशान है. वही महंथ शिव शंकर गिरी महाविद्यालय अरेराज प्रशासन द्वारा इंटर में रजिस्ट्रेशन के नाम पर अवैध वसूली से छात्र छात्राएं व अभिभावक परेशान है. कालेज प्रशासन द्वारा इंटर बोर्ड से निर्धारित शुल्क से दुगुना से भी अधिक राशि की वसूल की जा रही है. छात्र छात्राओं ने बताया कि बिहार बोर्ड द्वारा इंटर में छात्रों से रजिस्ट्रेशन शुल्क 370 रुपया निर्धारित किया गया है .लेकिन कॉलेज प्रशासन प्रति छात्र 820 रुपया रजिट्रेशन के नाम पर ले रहा है. 

कॉलेज प्रशासन के अनुसार इंटर 2020 -2022 में साइंस में 400 व आर्ट्स में 500 छात्र छात्राओं का नामांकन हुआ है. प्रति छात्र 450 रुपया अधिक रजिस्ट्रेशन शुल्क लिया जा रहा है. जिससे 900 छात्रों से 4 लाख 5 हज़ार रुपया की अवैध वसूली की गई है. छात्र सोनू कुमार, राजू कुमार, शालिनी कुमारी ने बताया कि इंटर नामांकन में भी बोर्ड के द्वारा निर्धारित राशि से कॉलेज विकास के नाम पर शुल्क लिया गया. वही दो माह बाद रजिस्ट्रेशन के लिए कॉलेज आने पर बोर्ड द्वारा निर्धारित शुल्क 370 की जगह 820 रुपया वसूला जा रहा है. 

वही अभिभावक सुमेश सिंह, गुड़ु सिंह, सुरेश सहनी सहित ने बताया कि कोरोना से रोजगार खत्म होने से सभी लोग परेशान है. वही कॉलेज प्रशासन द्वारा इंटर रजिस्ट्रेशन के नाम पर अवैध वसूली किया जा रहा है. शिकायत के लिए कॉलेज में जाने पर प्रिंसिपल से मुलाकात ही नही होती है. कालेज सीनेटर नीरज ठाकुर ने बताया कि कोरोना से जहाँ सभी लोग परेशान है .वही कॉलेज प्रशासन इंटर के रजिस्ट्रेशन के नाम पर प्रति छात्र 450 अधिक वसूली की जा रही है. चार दिन पूर्व छात्र संघ द्वारा अरेराज एसडीओ को आवेदन देकर अवैध वसूली पर रोक लगाने की मांग किया गया. लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने से छात्रों में आक्रोश है.

वही प्रिंसिपल डॉ प्रदीप कुमार ने बताया कि बोर्ड द्वारा इंटर रजिस्ट्रेशन का निर्धारित शुल्क 370 रुपया ही है .लेकिन कालेज में कर्मी की कमी को लेकर प्राइवेट आदमी को पैसा देकर कार्य कराया जा रहा है. वही कंप्यूटर से हार्ड कॉपी बनाने में खर्च आता है. जिसको लेकर कॉलेज विकास समिति की बैठक में 450 रुपया अधिक लेने का निर्णय लिया गया है. जिसके कारण प्रति छात्र रजिस्ट्रेशन शुल्क 820 रुपया लेकर रसीद दिया जा रहा है.

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट



Find Us on Facebook

Trending News