दरभंगा में बोट से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लिया बाढ़ का जायजा, कुशेश्वरस्थान मंदिर में की पूजा अर्चना

दरभंगा में बोट से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लिया बाढ़ का जायजा, कुशेश्वरस्थान मंदिर में की पूजा अर्चना

DARBHANGA : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज कुशेश्वरस्थान प्रखंड के पक्षी विहार स्थित हेलीपैड पर उतरे। वहाँ से मोटर वोट से   मंत्री जल संसाधन संजय कुमार झा, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह,जल संसाधन विभाग के सचिव संजीव हंस, परिवहन विभाग के सचिव  संजय अग्रवाल, आयुक्त दरभंगा प्रमंडल मनीष कुमार, पुलिस महानिरीक्षक, मिथिला क्षेत्र अजिताभ कुमार, जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम, वरीय पुलिस अधीक्षक बाबूराम एवं अन्य पदाधिकारीगण के साथ  मोटर वोट से बाढ़ प्रभावित परिवारों का हालचाल लेने जल से घिरे अदलपुर एवं सहोरवा ग्राम पहुंचे। यहाँ आकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारीयों को कई निर्देश दिए।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा की राहत के लिए क्या किया जा रहा है। इसका प्रतिदिन आकलन किया जा रहा है। वहीँ विभिन्न जिलों में जाकर खुद भी देखते हैं। 2007 से यह काम हो रहा है। कई बार ऊपर से हमने देखा है। लेकिन इस बार देखते हुए यहां आये हैं।यह इलाका छह महिना पानी में डूबा में रहता है। इसके लिए हमलोगों ने योजना भी बनायीं थी। पानी हमेशा नहीं रहे। इस योजना पर भी काम किया जा रहा है। 

बताते चलें लो बिहार में बाढ़ का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। विशेष रूप से उत्तर बिहार के इलाकों में नेपाल से आने वाली तबाही ने कहर बरपा रखा है। इसी को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तमाम आला अधिकारियों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दे रखें हैं। इसके अलावा वह खुद भी बाढ़ग्रस्त इलाकों का लगातार दौरा कर रहे हैं।

इसी कड़ी में मंगलवार कोमुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बार फिर बाढ़ग्रस्त इलाकों के हवाई सर्वेक्षण के लिए निकले। मधुबनी और दरभंगा दोनों ही नेपाल से सटे इलाके हैं। इन इलाकों में सबसे पहले नेपाल का पानी प्रवेश करता है, जिससे हर तरफ तबाही के मंजर दिखाई देते हैं। इस साल तो जून के महीने में ही बाढ़ की विभीषिका से सूबे की जनता त्राहि-त्राहि करने लगी। इसको लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा पहले से ही राहत और बचाव कार्य चलाने हेतु निर्देश जारी किए जा चुके हैं।

दरभंगा से वरुण ठाकुर की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News