NDA में इंट्री पर रोक के बाद बेचैन हैं चिराग,अब JDU के खात्मे की कर रहे भविष्यवाणी, झोपड़ी में लगी है आग!

NDA में इंट्री पर रोक के बाद बेचैन हैं चिराग,अब JDU के खात्मे की कर रहे भविष्यवाणी, झोपड़ी में लगी है आग!

PATNA: जेडीयू ने एनडीए में चिराग की इंट्री पर रोक लगवा दी। इसके बाद से चिराग पासवान बेचैन हो  गए हैं। एनडीए में इंट्री बंद होने के बाद लोजपा फिर से जेडीयू के खिलाफ हमलावर हो गई है। जेडीयू की पूरी कोशिश है कि लोजपा को तबाह किया जाए। आज बड़ी संख्या में लोजपा से जुड़े नेता और कार्यकर्ता जेडीयू का दामन थामने वाले हैं। चिराग पासवान की नीतियों की वजह लोजपा में भी भारी असंतोष है. बताया जाता है कि लोजपा के 6 सांसदों में आधे सांसद लगातार नाराज चल रहे हैं। बुधवार को एक बड़े नेता रामेश्वर चौरसिया ने भी लोजपा से इस्तीफा कर दिया है। कई अन्य बड़े नेता लोजपा को छोड़ने को तैयार बैठे हैं। वे लोग समय की इंतजार कर रहे।

अब जेडीयू के खात्मे की भविष्यवाणी

लोजपा में मची भगदड़ से चिराग और उनके सिपहसलार बेचैन हो गए हैं। चले थे बिहार में नीतीश कुमार को सत्ता से बेदखल करने और स्थिति ये हो गई है कि लोजपा में ही भगदड़ हो गई। पार्टी के भीतर भारी नाराजगी है ।लोजपा सुप्रीमो के खिलाफ गोलबंदी तेज है। लोजपा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष केशव सिंह के नेतृत्व में लोजपा के करीब 100 नेता-कार्यकर्ता आज जेडीयू का थामने वाले हैं। लोजपा में मची भगदड़ के बाद चिराग पासवान गुस्से में लाल है।लिहाजा लोजपा नेतृत्व पार्टी छोड़ने वालों को गद्दार बता रहा है। बिहार की राजनीति में हाशिये पर आई लोजपा अब जेडीयू के खात्मे की भविष्यवाणी कर रही है। चिराग पासवान की तरफ से कहा गया है कि तथाकथित लोजपा नेता पार्टी से निकाले जाने के बाद अब जेडीयू की गोंद में चले गए। बिहार विधान सभा चुनाव 2020 में लोक जनशक्ति पार्टी ने अकेले चुनाव लड़ने का फ़ैसला लिया और ये सभी कमजोर और गद्दार नेता भाग खड़े हुए । लोजपा की तरफ से कहा गया है कि  इन गद्दारों के जेडीयू में जाने से अब यह तय हो गया है की अब जदयू जल्द खत्म होगी, क्यों की ये लोग जहां भी जाते है वहाँ गद्दारी करते है। जेडीयू को गद्दार मुबारक।

चिराग न घर के रहे और न घाट के

बता दें, विधानसभा चुनाव 2020 के दरम्यान चिराग पासवान अपनी हर सभा में नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री नहीं बनने की भविष्यवाणी करते थे। वे कहते थे कुछ भी हो जाए लेकिन नीतीश कुमार अब बिहार के मुख्यमंत्री नहीं बनने वाले। लेकिन चुनाव में चिराग की भविष्यवाणी धरी की धरी रह गई। इतना जरूर हुआ कि बिहार की जनता ने चिराग पासवान की हवा निकाल दी। चले थे बिहार को फर्स्ट बनाने का नारा देकर बिहारियों का वोट लेने लेकिन यहां के वोटरों ने चिराग को हैसियत में ला खड़ा किया। विधानसभा चुनाव में लोजपा सिर्फ 1 सीट पर सिमट गई। इस तरह से लोजपा न घर की रही न घाट की.

चिराग को पीएम मोदी का नकली हनुमान बता चुके हैं बीजेपी नेता 

बिहार विधान सभा चुनाव 2020 में चिराग ने अकेले चुनाव लड़ा। चिराग पासवान पूरे चुनाव प्रचार के दरम्यान बीजेपी के सीएम कैंडिडेट नीतीश कुमार को जेल भेजने की बात कहते रहे। लोजपा ने जेडीयू की सभी सीटों पर उम्मीदवार उतार दिया। इतना ही नहीं बीजेपी की 6 सीटों पर भी चिराग ने अपने उम्मीदवार दे दिये। चिराग एक तरफ अपने आप को पीएम मोदी का हनुमान बता रहे थे दूसरी तरफ तेजस्वी यादव की सीट पर भी बीजेपी से अलग अपना उम्मीदवार दे दिया था। भाजपा के कई बड़े नेताओं ने चुनाव के दौरान कहा था कि चिराग नकली हनुमान हैं और प्लास्टिक का गदा लेकर हनुमान बनने का दिखावा कर रहे। अगर वे वाकई में पीएम मोदी के हनुमान होते तो राघोपुर में बीजेपी कैंडिडेट होने के बाद अपना उम्मीदवार नहीं देते। 




Find Us on Facebook

Trending News