चिराग-नीतीश तनाव के बीच जीतन राम मांझी की बेचैनी, पूर्व सीएम लोजपा सुप्रीमो की हर गतिविधि पर रख रहे नजर

चिराग-नीतीश तनाव के बीच जीतन राम मांझी की बेचैनी, पूर्व सीएम लोजपा सुप्रीमो की हर गतिविधि पर रख रहे नजर

PATNA: राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के दो घटक दलों जनता दल यूनाइटेड व लोक जनशक्ति पार्टी के बीच तनाव चरम पर है। एलजेपी सुप्रीमो चिराग पासवान पिछले कई  महीनों से मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के काम-काज की आलोचना में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। नीतीश सरकार की आलोचना में तो कभी-कभी वे नेता तेजस्‍वी यादव को भी पीछे छोड़ दे रहे। लोजपा की नीतीश कुमार से बढ़ी दूरी से हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा गद्गद है। महागठबंधन में शामिल हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा मुख्‍यमंत्री के काम की तारीफ कर रहा है। जीतन राम मांझी लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान की हर एक्टिविटी पर नजर रख रहे हैं और लगातार अपडेट ले रहे हैं।चिराग प्रकरण पर अपडेट जानने के लिए मांझी बेचैन रह रह रहे हैं।

 चिराग पासवान घटना क्रम पर पूरी नजर रख रहे मांझी

पिछले एक सप्ताह में चिराग पासवान और जेडीयू के बीच तल्खी बढ़ गई है।वैसे दोनों दलों के बीच खाई तो पिछले कई महीनों से बढ़ी हुई थी।लेकिन चिराग पासवान द्वारा कोरोना जांच में बिहार सरकार के फेल होने पर सवाल उठाए जाने के बाद सत्ताधारी जेडीयू बिफऱ गई।नीतीश कुमार ने आपा खो दिया और चिराग पासवान को जवाब देने के लिए अपने खास सांसद ललन सिंह को मैदान में उतार दिया।जेडीयू सांसद ललन सिंह ने चिराग पासवान को कालिदास की संज्ञा दे दी। इस बयान के बाद लोजपा की तरफ भी जवाब दिया गया।चिराग पासवान ने आनन-फानन में पटना में वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुला दी।शनिवार को चिराग ने पार्टी कार्यालय में बैठक बुलाई और सीएम नीतीश को जमकर खरी-खोटी सुनाई।तब ये कयास लगाए जा रहे थे कि चिराग पासवान जेडीयू से अपना संबंध खत्म करने का ऐलान करेंगे।लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ अँदरखाने में सीएम नीतीश के प्रति गुस्सा और बाहर में चुप्पी। महागठबंधन के नेता और हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी शनिवार को दिन भर चिराग पासवान का अगला निर्णय जानने, मीटिंग में क्या कुछ हुआ इसकी खबर लेने को बेचैन रहे। मांझी और उनके नेता चिराग पासवान की मीटिंग की अंदर की खबर जानने को बेचैन रहे।

नीतीश के साथ खड़े दिख रहे मांझी

 बिहार में इन दिनों अजग-गजब सियासत हो रही है। एनडीए में साथ होकर भी एलजेपी नीतीश कुमार के पीछे पड़ी है तो महागठबंधन के घटक दल 'हम' कर रूख नीतीश कुमार के लिए नरम हो गया है। जीतन राम मांझी इ दिनों नीतीश कुमार की खूब प्रशंसा कर रहे हैं।शिक्षकों को सेवा शर्त देने पर तो उन्होंने कह दिया कि मुख्यमंत्री ऐतिहासिक काम कर रहे हैं और हम उनके साथ हैं।जीतनराम मांझी का नीतीश कुमार के समर्थन में बयान देना करना सवाल खड़े कर रहा है कि क्या वे अभ पाला बदलने वाले हैं?

Find Us on Facebook

Trending News