चिराग अब क्या करेंगे,नीतीश कुमार को कैसे भेजेंगे जेल ? बिहार की जनता ने लोजपा सुप्रीमो के दंभ को किया पानी-पानी...

चिराग अब क्या करेंगे,नीतीश कुमार को कैसे भेजेंगे जेल ? बिहार की जनता ने लोजपा सुप्रीमो के दंभ को किया पानी-पानी...

PATNA: लोजपा सुप्रीमो अब क्या करेंगे ? चिराग के दंभ को बिहार की जनता ने पानी-पानी कर दिया। चिराग की एक भी भविष्यवाणी सही साबित नहीं हुई। चिराग चले थे नीतीश कुमार को जेल भेज कर बीजेपी के साथ सरकार बनाने लेकिन वे न घर के रहे न घाट के। तेजस्वी यादव को सीएम कुर्सी तक पहुंचाने में चिराग कामयाब तो नहीं हुए लेकिन विधानसभा पहुंचने में उनकी जरूर मदद की.

नीतीश कुमार को जेल भेजने की कही थी बात

लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने चुनाव में 'असंभव नीतीश' का नारा दिया था। यह उनका पहला चुनाव था। बिना रामविलास पासवान के चुनावी रण में उतरे चिराग ने 'बिहार फर्स्‍ट, बिहारी फर्स्‍ट विजन डाक्यूमेंट' के बल पर नीतीश कुमार को सत्ता से बेदखल करने का हुंकार भरा था. रामविलास पासवान के बाद चिराग का यह पहला चुनाव था और राजग से अलग होकर अकेले चुनाव लडऩे का उनका बड़ा  फैसला था।

लोजपा की झोपड़ी में लगी आग!

 भाजपा और जदयू को निर्णायक बहुमत मिलता देख चुनाव विश्लेषक भी मानने लगे हैं कि भाजपा के साथ लोजपा की सरकार बनाने का दावा करने वाले चिराग अपने पहले चुनाव में राजनीतिक फैसला लेने में चूक गए।  वे जनता का मन-मिजाज को भांप नहीं पाए और केवल नीतीश कुमार का विरोध करते रहे। यह बात मतदाताओं को नागवार गुजरी और एकबार फिर भाजपा-जदयू पर भरोसा जताया।

राजनीति के नौसिखुआ खिलाड़ी साबित हुए चिराग

चिराग पासवान की हठधर्मिता ने लोजपा की झोपड़ी में ही आग लग गई।क्यों कि,चले थे सरकार बनाने लेकिन 2015 में बीजेपी के सहयोग से जो लोजपा  2सीटें जीती थी वह भी इस बार गवां दिया ।हालांकि 2 अन्य सीटों पर पार्टी को बढ़त मिलते दिख रही है। लोजपा ने जदयू को दो दर्जन सीटों पर नुकसान जरूर किया है। खास बात यह है कि लोजपा को चुनाव में अच्छे प्रदर्शन की जो उम्मीद थी, वह असफलता में बदल गई। चुनाव विश्लेषक कह रहे हैं कि लोजपा के इस खराब प्रदर्शन के पीछे जो बड़ी वजह मानी जा रही है, वह जनता के बीच 'खुद' का भरोसा न जगा पाना है। अब बड़ा सवाल यही है कि क्या वाकई में चिराग राजनीति के नौसिखुआ खिलाड़ी साबित हुए?

Find Us on Facebook

Trending News