बिहार के लाल कैप्टन आशुतोष के शहीद होने पर चिराग पासवान ने जताया शोक, परिजन को 1 लाख रू की आर्थिक सहायता देने की घोषणा

बिहार के लाल कैप्टन आशुतोष के शहीद होने पर चिराग पासवान ने जताया शोक, परिजन को 1 लाख रू की आर्थिक सहायता देने की घोषणा

PATNA: कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के माछिल सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तानी आतंकवादियों की घुसपैठ रोकने के दौरान हुई गोलीबारी में बिहार के मधेपुरा जिले बेटे और कैप्टन आशुतोष शहीद हो गये। मधेपुरा जिले के घैलाढ़ प्रखंड के भतरंधा परमानपुर के वार्ड नंबर 17 के जागीर गांव निवासी आशुतोष (24) रबिन्द्र यादव के इकलौते बेटे थे। उनकी अभी शादी भी नहीं हुई थी। शहीद आशुतोष से एक बड़ी बहन खुशबू कुमारी की शादी हो चुकी है जबकि एक छोटी बहन अंशू कुमारी पीजी की पढ़ाई कर रही है।

लोजपा सुप्रीमो ने जताया शोक

इधर, लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान ने जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा से सटे माछिल सेक्टर में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में बिहार के मधेपुरा के जागीर गांव निवासी कैप्टन आशुतोष कुमार समेत चार जवानों की शहादत पर दुख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि बिहार के सपूत की इस शहादत को हमेशा याद किया जाएगा।उन्होंने ईश्वर से दुःख की इस घड़ी में परिजनों में धैर्य धारण करने की शक्ति की प्रार्थना की है। इसके साथ ही चिराग पासवान ने पार्टी फंड की तरफ से परिजन को एक लाख रू की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की।लोजपा प्रवक्ता अशरफ अंसारी ने यह जानकारी दी है।

बता दें, आशुतोष की दो साल पूर्व ही नौकरी लगी थी. वह 9 महीने से बॉर्डर पर तैनात थे. घटना की जानकारी मिलने के बाद कैप्टन आशुतोष के घर समेत पूरे गांव में मातम पसर गया है. आशुतोष दो बहन और एक भाई थे. आशुतोष के पिता को शाम 5 बजे के आसपास बेटे के शहीद होने की सूचना दी गई. बताया जाता है कि रविवार की अहले सुबह बीएसएफ के 12 जवानों की टीम पाकिस्तान बार्डर से सटे माछिल इलाके में पेट्रोलिंग कर रही थी, इसी दौरान 5 आतंकियों को घुसपैठ करते देखा गया. इसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई.


Find Us on Facebook

Trending News