CM नीतीश पर चिराग पासवान का तंज, बोले- 'वे भारत के प्रधानमंत्री ही नहीं रूस के राष्ट्रपति का भी सपना देख सकते हैं'

CM नीतीश पर चिराग पासवान का तंज, बोले- 'वे भारत के प्रधानमंत्री ही नहीं रूस के राष्ट्रपति का भी सपना देख सकते हैं'

औरंगाबाद. लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व जमुई के सांसद चिराग पासवान ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रधानमंत्री बनने के सपने पर तंज कसा है। पासवान ने शुक्रवार को यहां विधानसभा चुनाव में रफीगंज से प्रत्याशी रहे सामाजिक-राजनीतिक कार्यकर्ता प्रमोद कुमार सिंह को पार्टी में पुनः शामिल करने के लिए आयोजित घर वापसी सह मिलन समारोह में कहा कि मैं नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री बनने का सपना देखने के लिए शुभकामनाएं देता हूं। वें रूस का राष्ट्रपति बनने का भी सपना देख सकते हैं। सपना देखने में कोई हर्ज नहीं है, लेकिन उनका इस तरह का सपना कभी भी हकीकत में बदलने वाला नहीं है। 

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार की पार्टी के लोग बार-बार चिराग मॉडल की चर्चा कर रहे हैं। कह रहे हैं कि चिराग मॉडल से उन्हे नुकसान उठाना पड़ा। मतलब साफ है कि चिराग मॉडल नीतीश मॉडल पर भारी है। उन्होने कहा कि नीतीश कुमार कुर्सी कुमार है। जब संख्या बल के आधार पर बिहार में एक नंबर वन पार्टी थे, तब भी मुख्यमंत्री थे, दूसरे नंबर पर आ गये तो भी मुख्यमंत्री और तीसरे नंबर पर आने पर भी मुख्यमंत्री है और कुर्सी पर खतरा महसूस होते ही फिर से पाला बदलकर महागठबंधन से नाता जोड़कर मुख्यमंत्री है। उन्होंने कहा कि पहले जिस महागठबंधन के साथ आने के पहले उसे वे जंगल राज कहा करते थे, आज उसी के साथ आना उन्हें मंगलराज लगता है।

उन्होंने कहा कि बिहार में अब कही भी मंगल नहीं बल्कि अमंगल ही दिखता है। अपराध और भ्रष्टाचार के मामले में बिहार नंबर वन पर है। दूसरे राज्यों में बिहारी शब्द अपमान का प्रतीक बन चुका है। इसके बावजूद नीतीश कुमार 2024 में प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं। इस सपने के साथ वे कौन सा मॉडल देश को दिखाएंगे। वे देश को भी बिहार के जैसा अपराध और भ्रष्टाचार के मामले में नंबर वन बनाएंगे। यही असली नीतीश मॉडल है और इस मॉडल का चुकना ही नहीं, बल्कि अगले बार के किसी भी चुनाव में उनका खाता तक हम नहीं खुलने देंगे। यही चिराग मॉडल है, जो बिहार फर्स्ट और बिहारी फर्स्ट की बात करता है।

बिहार में यही मॉडल अब चलने वाला है और इसी मॉडल में बिहार का विकास निहित है। उन्होंने कहा कि बिहार में बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट के साथ क्रांति की शुरुआत के साथ नीतीश कुमार की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है और उनके राजनीतिक वजूद की समाप्ति तय है।

Find Us on Facebook

Trending News