चिराग के करीबी ने ही माना कि नीतीश को हमसे हुआ सबसे अधिक नुकसान, पूरा फायदा तेजस्वी को मिला

चिराग के करीबी ने ही माना कि नीतीश को हमसे हुआ सबसे अधिक नुकसान, पूरा फायदा तेजस्वी को मिला

नवादा... लोजपा के अकेले चुनाव लड़ने का फायदा सबसे अधिक तेजस्वी यादव को मिला। अगर लोजपा चुनाव अकेले नहीं लड़ती तो उन्हें उतनी सीटे नहीं आती, जितनी की मिली है। लोजपा का अकेले चुनाव लड़ने का सबसे अधिक नुकसान नीतीश कुमार जी को हुआ है। यह बात  न्यूज4नेशन से खास बातचीत करने के दौरान नवादा पहुंचे लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सूरजभान सिंह ने कही। उन्होंने कहा कि तेजस्वी की उम्र अभी सीखने की है और नीतीश का अनुभव ज्ञान का भंडार है। 

लोजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सूरजभान सिंह ने कहा कि चुनाव के बाद से चिराग कई बार बिहार आए हैं और उन्होंने चुनाव की समीक्षा की है। हमसे कहां चूक हुई और कहां नहीं, इस पर बैठकों में खूब चर्चा हुई है। हमे चुनाव में निराशाजनक प्रदर्शन जरूर किया है, लेकिन हम हताश नहीं हैं और अभी हम सरकार के काम काज काे लेकर पैनी निगाहें बनाए हुए हैं। 

वहीं उन्होंने बिहार में बढ़ते अपराध को लेकर कहा कि हत्या कहीं भी हो सकती है। हालाकि हत्या होना दुखद है और सरकार को इस पर नियंत्रण करना चाहिए। सरकार इसमें कमी जरूर ला सकती है जो कि अभी बिहार में इसे करने की जरूरत भी है। उन्होंने कहा कि बिहार में जो 20 साल पहले जो स्थिति थी, वो अब नहीं है। यहां जातिवाद इस कदर हावी है कि अपराध होने का एक कारण बना हुआ है। 

सूरजभान सिंह ने कहा कि शराबबंदी पूरी तरह से सफल नहीं हो पाया है। बिहार में पुलिस कर्मियों की संख्या बहुत कम है और इसको बढ़ाने की जरूरत है। अधिकतर सिपाही शराबबंदी के आदेशों को तोड़कर काम कर रहे हैं तो अपराध बढ़ेगा ही, इसलिए जरूरत है कि कर्मचारियों को बढ़ाया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को ध्यान देने की जरूरत है कि किस काम पर ध्यान देना है और किस काम पर नहीं। 

नवादा से अमन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News