चिराग ने नीतीश कुमार की बातों का किया समर्थन, पहली बार भाजपा के खिलाफ बोल दिया कुछ ऐसा

चिराग ने नीतीश कुमार की बातों का किया समर्थन, पहली बार भाजपा के खिलाफ बोल दिया कुछ ऐसा

PATNA : बिहार में जनसंख्या नियंत्रण कानून राजनीतिक बहस का मुद्दा बना हुआ है। जिसमें सभी दलों का अपना अपना नजरिया है। इसमें जमुई सांसद चिराग पासवान भी शामिल हो गए हैं। लंबे समय से बिहार के सीएम नीतीश कुमार का विरोध जतानेवाले चिराग पासवान ने जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर कानून बनाए जाने को लेकर सीएम नीतीश की बातों का समर्थन किया है। जहां नीतीश कुमार ने जनखंख्या नियंत्रण के लिए जन जागरुकता को ही सबसे बड़ा हथियार माना है, वहीं चिराग ने भी इन्हीं बातों को दोहराया है। 

गुरुवार को पटना एयरपोर्ट पर उतरते ही उन्होंने जनसंख्या नियंत्रण को लेकर भाजपा के स्टैंड के खिलाफ खुलकर बोला। किसी पार्टी का नाम नहीं लिया लेकिन कहा कि कानून बनाकर जनसंख्या नियंत्रण करना संभव नहीं है। यह जागरूकता से ही हो सकता है।'इसमें कोई संदेह नहीं कि सीमित संसाधनों वाले हमारे देश में बेलगाम जनसंख्या वृद्धि (Population Growth)  विनाशकारी हो सकती है, लेकिन हमें कानून बनाने के बारे में सोचने के बजाय जनजागरूकता बढ़ाने की कोशिश करनी चाहिए।

शराबबंदी और आपातकाल की दिलाई याद

जनसंख्या नियंत्रण कानून की तुलना शराबबंदी से करते हुए चिराग ने बिहार में पांच साल पहले शराब की बिक्री को लेकर भी कानून बना था, लेकिन सभी जानते हैं कि इस कानून का कितना लाभ हुआ है। इस दौरान उन्होंने आपातकाल की याद दिलाते हुए  कहा कि उस समय भी जनसंख्या नियंत्रण के लिए जबरन नसबंदी करायी जा रही थी। जिसने जनसंख्या नियंत्रण को बदनाम किया.

चाचा से मुलाकात संभव

पटना में मीडिया से बातचीत के दौरान चिराग पासवान ने कहा कि सोमवार से शुरू हो रहे संसद के मानसून सत्र के दौरान चाचा पशुपति पारस से मुलाकात की संभावना है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि लड़ाई खत्म हो गई। लड़ाई तो लंबी चलेगी। इस दौरान चिराग ने कहा कि मेरी प्राथमिकता अभी किसी से गठबंधन करना नहीं है, मुझे पार्टी को फिर से मजबूती देनी है और इसलिए आशीर्वाद यात्रा पर ही मेरा पूरा ध्यान है। जनता का आशीर्वाद ही मेरा सहारा है।  

Find Us on Facebook

Trending News