गुजरात में भाजपा की मदद करेंगे चिराग! यहां विधानसभा चुनाव में पहली बार लड़ेगी लोजपा (रामविलास), ये है प्लानिंग

गुजरात में भाजपा की मदद करेंगे चिराग! यहां विधानसभा चुनाव में पहली बार लड़ेगी लोजपा (रामविलास), ये है प्लानिंग

Desk. गुजरात में विधानसभा चुनाव की तैयारियां चल रही हैं। दिसंबर महीने में वहां चुनाव होने की संभावना है। भाजपा ने वहां लगातार अपना वर्चस्व कायम कर रखा है, जबकि कांग्रेस उसको टक्कर देती आ रही है। इस बार मुकाबला दिलचस्प होगा, क्योंकि दिल्ली और पंजाब के बाद आम आदमी पार्टी की नजर भी गुजरात पर है। इसलिए अरविंद केजरीवाल वहां बार-बार जा रहे हैं और चुनावी प्रचार भी कर रहे हैं। वहीं इस बार चिराग पासवान की पार्टी ने भी गुजरात में पहली बार चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है।

बताया जा रहा है कि लोकजनशक्ति पार्टी (रामविलास) गुजरात के विधानसभा चुनाव को लेकर सीट और उम्मीदवार पर रिसर्च वर्क कर रही है। ऐसे में अब राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि चिराग पासवान गुजरात में भाजपा को मदद करने के लिए विधानसभा का चुनाव लड़ रहे हैं। बताया जा रहा है कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के वोट काटने के लिए चिराग पासवान गुजरात में चुनाव लड़ेंगे।

गुजरात में चिराग पासवान का कोई आधार नहीं है। हालांकि यहां एससी-एसटी वोटरों की संख्या ठीकठाक है। गुजरात में एससी-एसटी के लिडरों में जिग्नेश मेवाणी का नाम आता है, जो अब कांग्रेस में शामिल हो गये हैं। पिछले विधानसभा का चुनाव उन्होंने बिना दल का लड़ा था। इस बार कांग्रेस में शामिल होने से इस जाति का वोट कांग्रेस की तरफ बढ़ सकती है। बताया जा रहा है कि इसमें सेंध लगाने के लिए चिराग पासवान गुजरात के चुनाव मैदान में उतर रहे हैं।

चिराग पासवान का भाजपा नेताओं से अच्छे संबंध बताए जा रहे हैं। चिराग ने 2020 के बिहार में विधानसभा चुनाव के दौरान आपने आप को पीएम मोदी का हनुमान बताया था। उन्होंने खुलकर नीतीश कुमार के खिलाफ तो चुनाव में लड़ाई लड़ी, लेकिन वे प्रचार के दौरान भाजपा पर हमलावर रुख से बचते रहे। हालांकि इस चुनाव में चिराग को कोई खास सफलता नहीं मिली, बल्कि उनकी पार्टी ही टूट गयी और लोजपा दो भागों में बंट गयी। 

साथ ही गुजरात की आबादी साढ़े 6 करोड़ से अधिक है। इनकी आबादी का करीब 5 प्रतिशत लोग बिहार के हैं, यानी 30 लाख लोग जो विधानसभा में वोट देते हैं। इनके अलावा उत्तर प्रदेश और राजस्थान के लोग भी बड़ी संख्या में वहां रहते हैं। सूत्र बताते हैं कि चिराग पासवान के जरिए उत्तर भारतीयों को साधने की तैयारी चल रही है, जो भाजपा के प्लान का एक हिस्सा है!


Find Us on Facebook

Trending News