BJP चीफ नड्डा से मुलाकात फिर आज पार्टियों नेताओं से बात, सीएम नीतीश से रुठे चिराग आखिर किसे दिखाने चाहते हैं अपना दम

BJP चीफ नड्डा से मुलाकात फिर आज पार्टियों नेताओं से बात, सीएम नीतीश से रुठे चिराग आखिर किसे दिखाने चाहते हैं अपना दम

patna : बिहार में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं. चुनावी साल में बिहारी के सत्ताधारी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के दो घटक दल आमने-सामने हैं. सरकार का नेतृत्व कर रही जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) और लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के बीच बयानों के तीर चल रहे हैं. एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से खफा हैं. चिराग ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर नीतीश कुमार की शिकायत की है.

बिहार की जमुई लोकसभा सीट से सांसद चिराग पासवान ने जेपी नड्डा को बताया कि किस तरीके से जेडीयू लगातार एलजेपी की उपेक्षा कर रही है. उन्होंने भाजपा अध्यक्ष से स्पष्ट कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार के जल, जीवन, हरियाली और सात निश्चय का एजेंडा उनकी पार्टी का एजेंडा नहीं है. चिराग पासवान ने यह मांग भी की है कि बिहार विधानसभा चुनाव अगर एनडीए के तीनों घटक दलों को साथ लड़ना है, तो उससे पहले न्यूनतम साझा कार्यक्रम बनाना पड़ेगा, जिसमें सभी दलों के एजेंडे को शामिल किया जाना चाहिए.


चिराग पासवान ने पिछले कुछ महीनों से सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. चिराग कानून-व्यवस्था, प्रवासी मजदूरों का मुद्दा, कोरोना महामारी के दौरान सरकार की नाकामी, बाढ़ के हालात को लेकर कई बार पत्र लिखकर नीतीश कुमार पर हमला बोल चुके हैं. नीतीश कुमार को लेकर चिराग पासवान ने पिछले कुछ महीनों में जिस तरीके के तेवर दिखाए हैं, उससे ऐसा लगने लगा है कि भाजपा के हालात नहीं संभाल पाने की स्थिति में वे गठबंधन से अलग हो जाएंगे.

बता दें, अपने पार्टी के नेताओं के साथ पिछले कुछ बैठकों में चिराग पासवान ने बार-बार इस बात को दोहराया है कि पार्टी को विधानसभा चुनाव में किसी भी परिस्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए और जरूरत पड़ी तो उनकी पार्टी सभी 243 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी.

Find Us on Facebook

Trending News