तय समय पर ही होंगे शिवहर में चुनाव, जिला प्रशासन ने पूरे घटना का किया रिव्यू, रजिस्टर्ड और मान्यता प्राप्त पार्टियों के लिए अलग-अलग हैं नियम

तय समय पर ही होंगे शिवहर में चुनाव, जिला प्रशासन ने पूरे घटना का किया रिव्यू, रजिस्टर्ड और मान्यता प्राप्त पार्टियों के लिए अलग-अलग हैं नियम

पटना... राजनीतिक पार्टी के उम्मीदवार की हत्या किए जाने के बाद भी शिवहर में बिहार विधानसभा का चुनाव नहीं टलेगा। चुनाव आयोग की तरफ से तय किए गए समय पर ही यहां वोट डाले जाएंगे। शिवहर के जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीएम अविनाश कुमार सिंह ने इस बात की पुष्टि की है।

यहां दूसरे चरण में मतदान होना है। दरअसल, शनिवार की शाम अपराधियों ने जनता दल राष्ट्रवादी के उम्मीदवार श्रीनारायण सिंह और एक कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी थी। विधानसभा के इस चुनाव में अब तक की सबसे बड़ी घटना है। इस मामले की पुलिस की टीम तो कर ही रही है। साथ ही चुनाव आयोग और जिला प्रशासन ने इस मामले का रिव्यू किया। चुनाव आयोग के सीनियर अधिकारियों तक पूरे वारदात की जानकारी दी गई। रविवार को जब शिवहर के जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीएम से बात की गई तो उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि चुनाव अपने तय समय पर ही होगा। बड़ी वारदात होने के बाद भी इस पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

मान्यता प्राप्त पार्टी होने पर कैंसिल हो जाता चुनाव


दरअसल, मान्यता प्राप्त और रजिस्टर्ड राजनीतिक पार्टियों के लिए अलग-अलग नियम हैं। श्रीनारायण सिंह जिस पार्टी के उम्मीदवार थे, वो सिर्फ रजिस्टर्ड है। जनता दल राष्ट्रवादी पार्टी मान्यता प्राप्त नहीं है। इस कारण चुनाव के लिए तय प्रोग्राम में किसी प्रकार का बदलाव नहीं होगा। नॉमिनेशन की तारीख भी खत्म हो चुकी है। इस वजह से अब पार्टी श्रीनारायण सिंह की जगह कोई दूसरा उम्मीदवार भी खड़ा नहीं कर सकती है। 

वहीं, अगर यह मान्यता प्राप्त पार्टी होती तो यहां पर नियम बदल जाते। सबसे पहले चुनाव कैंसिल कर दिया जाता। पूरे मामले रिव्यू करने के बाद चुनाव आयोग की तरफ से नए तारीखों का ऐलान किया जाता, फिलहाल शिवहर के मामले में ऐसा नहीं है। कल रात से ही अटकलें चल रही थी कि उम्मीदवार की हत्या के बाद चुनाव कैंसिल हो सकता है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी के कंफर्म करने के बाद फिलहाल ऐसी अटकलों पर अब विराम लग गया है और चुनाव पहले से निर्धारित समय पर ही होगा।



Find Us on Facebook

Trending News