जमीनी विवाद में आग में घी डालने का काम कर रहा हैं अंचल कार्यालय, कर्मियों की मिलीभगत से होता है दाखिल ख़ारिज

जमीनी विवाद में आग में घी डालने का काम कर रहा हैं अंचल कार्यालय, कर्मियों की मिलीभगत से होता है दाखिल ख़ारिज

KATIHAR : बिहार में बढ़ते अपराध के पीछे जमीनी विवाद एक बड़ी वजह है। यह न सिर्फ बढ़ती अपराध की वजह है। बल्कि न्यायालय में भी सबसे अधिक जमीनी विवाद से जुड़े मामला ही लंबित है। दरअसल जमीन से जुड़े विवाद के जड़ को अगर टटोला जाए तो इसके पीछे अंचल कार्यालय की कार्यशैली एक बड़ी वजह लगता है। कटिहार से ऐसे ही एक मामला सामने आया है। 

जहां एक नहीं बल्कि आधा दर्जन से अधिक ऐसे मामले से जुड़े दस्तावेज सामने आने के बाद अंचल कार्यालय के कर्मियों और अधिकारियों की मिलीभगत से फर्जी तरह से केवाला और मोटेशन करवा लिया गया है या करवाने का प्रयास प्रमाणित होने लगा है। कुछ मामले ऐसे हैं जिसमें लोग सामने आकर कह रहे हैं कि दो साल से वह अपने सही दस्तावेज लेकर चक्कर काट रहे है। लेकिन भू-माफियाओं के साथ कर्मी और अधिकारियों की गठजोड़ उनके सही दस्तावेज को गलत साबित करने के लिए आतुर है। यह खेल कैसे खेला जा रहा है।

NEWS4NATION ने इसकी तफ्तीश शुरू की। बड़ी बात यह है कि तफ्तीश पर अंचल अधिकारी खुद मोहर लगा रहे हैं। वह भी मानते हैं कि उनके सामने भी ऐसे कई दस्तावेज आया है। जिसको वह निरस्त करते हुए इस पर जांच करने की आदेश जारी किया है। दबे जुबान से वह यह भी मानते दिखे कि निश्चित तौर पर इसी कार्यालय के कुछ कर्मियों और अधिकारियों की मिलीभगत से ऐसे केवाला या मोटेशन का काम हुआ है। जांच रिपोर्ट आने के बाद उन कर्मी या अधिकारियों के बारे में बरीय अधिकारी को रिपोर्ट सौंपने की बात अब अंचल अधिकारी कह रहे है।

कटिहार से श्याम की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News