सुशासन के सिस्टम की सड़ांध, बकाया वेतन भुगतान का गुहार लगाते-लगाते सरकारी कर्मचारी ने लगा लिया मौत को गले

सुशासन के सिस्टम की सड़ांध, बकाया वेतन भुगतान का गुहार लगाते-लगाते सरकारी कर्मचारी ने लगा लिया मौत को गले

MUZAFFARPUR : सिस्टम की लचर व्यवस्था और संवेदनहीनता का एक बड़ा मामला सामने आया है। एक युवक जिसे अभी अपने परिवार के कई अरमान और सपने पूरे करने थे। सिस्टम की संवेदनहीनता और लचर व्यवस्था के कारण अधूरा ही छोड़कर इस दुनिया से पलायन कर गया। उसने कई बार प्रशासनिक अधिकारियों को अपनी परेशानी बताई। लेकिन उसकी एक न सुनी गई। परेशान युवक ने प्रशासन और अपने अधिकारियों से मौत तक की अनुमति की मांग कर डाली। लेकिन बहरे और संवेदनहीन हो चुके प्रशासन और अधिकारियों पर उसका कोई प्रभाव नहीं हुआ। अंत में परेशान युवक ने अपनी इहलीला समाप्त कर डाली। 

घटना मुजफ्फरपुर जिले की है। जहां एक नवजवान सरकारी कर्मचारी ने जहर खाकर जान दे दी है। घटना को अंजाम देने से पहले उसने कई बार अपने अधिकारियों और जिला प्रशासन को इस बारे में सूचित किया, लेकिन उसकी बातों पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। 

मृतक सन्नी कुमार जिले के मुरौल में पंचायत राज कार्यालय में कार्यपालक सहायक के पद पर कार्यरत था। सन्नी को पिछले पांच माह से वेतन नहीं मिला था। वेतन नहीं मिलने से परेशान युवक ने कई बार अपने अधिकारियों से वेतन भुगतान की गुहार लगाई, लेकिन उसकी बातों पर ध्यान नहीं दिया गया। 

बताया जा रहा है कि युवक के इस पत्र के बाद भी प्रशासन की ओर से कोई कदम नहीं उठाया गया और अंतत: सन्नी ने बीती रात जहर खा लिया। आनन फानन में निजी अस्पताल लाया गया, जहां हालत को गंभीर देखते हुए उसे पटना रेफर किया। लेकिन उसकी रास्ते में ही मौत हो गई। 

इस बाबत news4nation ने मुजफ्फरपुर डीएम को उनके नंबर 9473191283 पर कॉल कर जानकारी लेने की कोशिश की तो उन्होंने कॉल को रिसिव नहीं किया। 

मुजफ्फरपुर से मनोज कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News