नियुक्ति-पत्र पर कटघरे में नीतीश सरकार ! पुलिस मुख्यालय की सफाई...2020 में निकली थी बहाली, चयनित 10459 को मिला है नियुक्ति पत्र

नियुक्ति-पत्र पर कटघरे में नीतीश सरकार ! पुलिस मुख्यालय की सफाई...2020 में निकली थी बहाली, चयनित 10459 को मिला है नियुक्ति पत्र

PATNA: बिहार में नियुक्ति पर नौटंकी जारी है। महागठबंधन की सरकार बनने के बाद डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव दावा कर रहे कि सरकार बनते ही सरकारी नौकरी मिलनी शुरू हो गई है। वहीं विपक्षी पार्टी भाजपा का दावा है कि वर्तमान सरकार के मुख्यमंत्री और डिप्टी सीएम जिनको भी नियुक्ति पत्र दे रहे वो बहाली एनडीए के कार्यकाल में निकली है। नियुक्ति पत्र देने को लेकर जिस तरह से भाजपा ने चौतरफा हमला किया,उसके बाद से सरकार की भारी किरकिरी हुई है। बताया जाता है कि पूर्व में बहाल पुलिसकर्मी व अन्य कर्मियों को दुबारा नियुक्ति पत्र दिया गया। भाजपा ने पूछा है कि कैसे कोई अभ्यर्थी पूर्ण पुलिस वर्दी में नियुक्ति पत्र ले सकता है। सरकार ने खेल किया है और जो कर्मी नियुक्त हो गए हैं उन्हें फिर से नियुक्ति पत्र देकर नियुक्ति घोटाला कर रही है। सरकार की भद्द पिटने के बाद पुलिस मुख्यालय ने सफाई दिया है। साथ ही स्वीकार किया है कि जिन 10459 पुलिसकर्मियों को 16 नवंबर को नियुक्ति पत्र दिया गय़ा, उनकी बहाली 2020 में ही निकली थी। यानी पुलिस मुख्यालय ने भी साफ कर दिय़ा है कि यह बहाली तुरंत की नहीं है। 

पुलिस मुख्यालय की सफाई   

बिहार पुलिस मुख्यालय ने नव चयनित 10559 दरोगा, सार्जेंट तथा सिपाहियों की नियुक्ति प्रक्रिया के संबंध में अपनी स्थिति स्पष्ट की है. पुलिस मुख्यालय ने कहा है कि बिहार पुलिस अवर सेवा सेवा आयोग ने विज्ञापन सं- 3/2020 दिनांक 14 अगस्त 2020 के माध्यम से अवर निरीक्षकों के 1998 पद एवं परिचारी के 215 पद पर नियुक्ति के लिए आवेदन आमंत्रित किए थे. इस परीक्षा का रिजल्ट 14 जुलाई 2022 को प्रकाशित किया गया. आयोग ने 25 जुलाई 2022 को अभ्यर्थियों की अनुशंसा पुलिस मुख्यालय को भेजी. इसके बाद पुलिस मुख्यालय ने 1 अगस्त 2022 से 20 अगस्त 2022 के बीच पुलिस मुख्यालय में आगे की कार्रवाई के लिए योगदान देने को कहा. 2 अगस्त 2022 को सभी अनुशंसित अभ्यर्थियों के अभिलेखों की जांच के लिए जिला के क्षेत्रीय कार्यालय को भेजा गया. 7 अक्टूबर 2022 को अनुशंसित अभ्यर्थियों को योगदान के लिए जिला आवंटित किया गया. इसके बाद अभ्यर्थियों के जिलों में योगदान की कार्रवाई प्रारंभ की गई.

एनडीए शासनकाल में ही निकली थी बहाली 

पुलिस मुख्यालय ने आगे कहा है कि केंद्रीय चयन परिषद (सिपाही भर्ती) के विज्ञापन संख्या 5/2020 के माध्यम से 8415 पद पर सिपाहियों की नियुक्ति के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए थे. इस विज्ञापन का रिजल्ट 2 सितंबर 2022 को प्रकाशित किया गया. केंद्रीय चयन पर्षद के द्वारा अनुशंसित अभ्यर्थियों को जिला आवंटित किया गया और कैंडिडेट के द्वारा जिले में योगदान की कार्यवाही प्रारंभ की गई .पुलिस मुख्यालय ने कहा है कि 16 तारीख को जिन अभ्यर्थियों को नियुक्ति प्रमाण पत्र वितरित हुआ वह इन्हीं दो विज्ञापनों के माध्यम से चयनित अभ्यर्थी हैं. नियुक्ति प्रक्रिया पूर्ण होने में समय लगता है. परीक्षाफल प्रकाशित होने के बाद योगदान के लिए आवंटित जिला में अभ्यर्थियों द्वारा योगदान दिया जाता है, जहां पर नियुक्ति के पूर्व चरित्र सत्यापन चिकित्सीय जांच एवं अन्य दस्तावेज की जांच की जाती है. पुलिस मुख्यालय ने कहा है कि सभी नियुक्त कर्मियों को जल्द ही प्रशिक्षण के लिए प्रशिक्षण केंद्रों में भेजा जाएगा. योग्य पुलिस अवर निरीक्षक और सार्जेंट को बिहार पुलिस अकादमी और सिपाहियों को जिला एवं विशेष सशस्त्र पुलिस की वाहिनी में भेजकर प्रशिक्षित किया जाता है.


Find Us on Facebook

Trending News