चालाक रेलवे : विरोध के बाद ट्रेन में बंद किया सर्विस टैक्स तो अब यात्रियों को लुटने के लिए अपनाया यह तरीका, जानकर अपना सिर पिट लेंगे

चालाक रेलवे : विरोध के बाद ट्रेन में बंद किया सर्विस टैक्स तो अब यात्रियों को लुटने के लिए अपनाया यह तरीका, जानकर अपना सिर पिट लेंगे

PATNA : कहा जाता था रेलगाड़ी गरीब और आम जनता के सफ़र के लिए एक मात्र सहारा है. परन्तु अब ऐसा नहीं रहा क्यूंकि भारतीय रेलवे के नियमों में आए दिन बदलाव होते रहते है. अब तो रेलवे के टिकट भी बहुत महंगे होते जा रहे है. अब फिर से रेलवे के नए नियम ने आम जनता को परेशानी में डाल दिया है. भारतीय रेलवे ने ट्रेनों में खानपान की सर्विस (catering service) पहले से बुक न करने वाले यात्रियों से सर्विस टैक्स ना ले कर आम जनता को राहत देने का ढोंग कर रही है. क्यूंकि नए नियम के अनुसार प्री कैटरिंग बुक (pre catering book) न करने वालों को खानपान की चीजें मंगाने पर अलग से 50 रुपये सर्विस चार्ज नहीं देना होगा. परन्तु इस वजह से चाय, कॉफी को छोड़कर बाकि सभी चीजों के रेट बढ़ गए हैं. ट्रेन में यात्रियों को अब 20 रुपये की चाय, कॉफी 20 रुपये में ही मिलेगी, यानी अब उन्‍हें सर्विस चार्ज (service charge) के रूप में 50 रुपये नहीं देने पड़ेगे. बात करे पहले की तो यह चाय,कॉफी सर्विस चार्ज समेत 70 रुपये की पड़ती थी. रेलवे बोर्ड ने इस संबंध में आदेश जारी कर ट्रेनों में पहले से खानपान की सर्विस बुक न करने वाले यात्रियों से अब कैटरिंग का चार्ज नहीं  लिया जाएगा.

रेलवे मंत्रालय के अनुसार अलग-अलग ट्रेनों और क्‍लास के अनुसार कैटरिंग सर्विस और चार्ज होते हैं. प्री कैटरिंग की सर्विस बुक न करने वालों के लिए खानपान की चीजें के नए रेट इस प्रकार होंगे. पहले सभी में 50 रुपये सर्विस चार्ज अलग से देने होते थे. तो अब रेलवे ने सभी के दाम ही बढ़ा दिए है.

सर्विस                    1 एसी, ईसी में पहले-               अब-            2,3 एसी, सीसी में पहले     अब

राजधानी, शताब्‍दी और दूरंतो ( रेट रुपये में)

चाय                              35                                     35                        20                     20       

ब्रेकफास्‍ट                    140                                  190                    105                      155

लंच/डिनर                   245                                  295                    185                       235

 नाश्‍ता                       140                                 190                        90                       140

नए नियम के तहत रेलवे सर्विस टैक्स ना ले कर खानपान की चीजों के दाम बढ़ा कर लोगों को राहत के जगह पर परेशानी ही दे रही है. ऐसा ही रहा तो कुछ दिन में खानपान की चीजों के साथ रेलवे के टिकट भी हवाईजहाज जैसा महंगा हो जाएगा.  

पहले देना होता था सर्विस चार्ज

पहले ट्रेनों में कैटरिंग सर्विस से कोई भी चीज मंगाने पर 50 रुपये का सविर्स चार्ज देना पड़ता था, वो चीज चाहे 20 रुपये की हो या 200 रुपये की. यानी पहले ट्रेनों में अगर यात्री खानपान की सर्विस की बुकिंग टिकट के साथ नहीं करता है तो उन्‍हें चलती ट्रेनों में खानपान ऑर्डर करने में महंगा पड़ता था. इससे सेकेंड थर्ड या चेयर कार में केवल चाय, काफी का ऑर्डर देने वाले यात्रियों को काफी महंगा पड़ता था, उन्‍हें 20 रुपये की चाय, कॉफी सर्विस चार्ज के साथ 70 रुपये की पड़ती थी. हालांकि अन्‍य चीजें पहले से खानपान की सुविधा बुक न करने वाले यात्रियों को महंगी पड़ेंगी. इसलिए टिकट बुक कराते समय यात्रियों को खानपान की सर्विस बुक कराना सस्‍ता रहेगा.

कुछ दिन पहले हुआ था विरोध

बता दें कि कुछ दिन पहले ट्रेन में 20 रुपए की कॉफी के लिए 50 रुपए सर्विस टैक्स लिए जाने को लेकर सोशल मीडिया पर खूब हंगामा हुआ था। लोंगों ने सरकार की मंशा पर सवाल उठाए थे और पूछा था कि रेस्टोरेंट में सर्विस टैक्स नहीं है, तो रेलवे किस नियम के तहत सर्विस टैक्स वसूल रहा हैं। मामले के तूल पकड़ने के बाद अब रेलवे ने सर्विस टैक्स तो खत्म कर दिया है। लेकिन ट्रेनों में आईआरसीटीसी के खाने की कीमत कम नहीं हुए हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News