CM के सामने बाढ़ पीड़ितों को स्टील के चमचमाते बर्तनों में दिया गया खाना, लेकिन जाते ही ऐसी दिखी हकीकत

CM के सामने बाढ़ पीड़ितों को स्टील के चमचमाते बर्तनों में दिया गया खाना, लेकिन जाते ही ऐसी दिखी हकीकत

BHAGALPUR : बिहार में बाढ़ के कहर के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लगातार हवाई सर्वेक्षण कर रहे हैं. मंगलवार को सीएम भागलपुर के नवगछिया पहुंचे. यहां नीतीश कुमार ने सामुदायिक किचन का निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने बाढ़ पीड़ितों को खाने के दौरान स्टील के प्लेट दिए गए. लेकिन मुख्यमंत्री के निकलते ही स्टील के प्लेट को हटाकर तुरंत बाढ़ पीड़ितों को थर्माकोल की प्लेट परोस दी गई. दरअसल सीएम के पहुंचने से पहले अधिकारियों ने सामुदायिक किचन में व्यवस्थाएं दुरुस्त कर दी थीं. बाढ़ पीड़ितों को खाने के लिए चमचमाती स्टील की थाली और गिलास दिए गए. 

सूबे के मुखिया को मुक्कमल इंतजामों की तस्वीर जो दिखानी थी. हुआ भी ऐसा ही. सीएम नीतीश कुमार ने तमाम इंतजामों का निरीक्षण किया और खामियां देखने को नहीं मिली. नीतीश कुमार ने बाढ़ राहत शिविर और सामुदायिक रसोई का जायजा लिया. बाढ़ राहत केंद्र में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने बाढ़ पीड़ितों को खाने के दौरान स्टील के प्लेट और गिलास दिए गए. लेकिन मुख्यमंत्री के जाते ही स्टील के प्लेट को हटाकर तुरंत बाढ़ पीड़ितों को थर्माकोल की प्लेट में खाना परोस दी गई. सीएम ने भागलपुर के नवगछिया में बाढ़ की स्थिति जानने के लिए पहले हवाई सर्वे किया. नवगछिया के इण्टर स्तरीय हाईस्कूल पहुंचे. हवाई सर्वे के बाद सीएम नीतीश कुमार नवगछिया के रामधारी सिंह उच्च विद्यालय और लालजी उच्च विद्यालय पहुंचे. 

इसके साथ ही बाढ़ पीड़ितों को दी जाने वाली सुविधाएं, कम्युनिटी किचन आदि का सीएम ने जायजा लिया. हाई स्कूल पकरा नवगछिया में बाढ़ राहत शिविर का भी उन्होने जायजा लिया. चिकित्सा राहत शिविर में बाढ़ पीड़ित रोगियों के इलाज के बारे में सिविल सर्जन उमेश प्रसाद से बात की. सीएस से पूछा कि कौन कौन सी दवाई शिविर में उपलब्ध हैं. सीएम बाढ़ राहत शिविर में खाना खा रहे बाढ़ पीड़ितों से भी मिले. शिविर में मिल रहे भोजन के बारे में पूछा गया. 

शिविर में मौजूद इस्माइलपुर के छोटी परबत्ता महराज जी टोला की महिला सियाराम मंडल की पत्नी चांदनी देवी ने बताया कि बांध टूटने के बाद से चुल्हा नहीं जला है. पिछले तीन दिन से भूखी हूं. बाढ़ राहत शिविर में सुबह आठ बजे से पहुंची हूं लेकिन खाना नहीं मिला है.घर के चारो तरफ बाढ़ का पानी है. घर में सूरदास पति, मानसिक रुप से परेशान पुत्र, पुत्री व दामाद फंसा हुआ है. वहां से उसे कोई निकालने वाला नहीं है. सीएम ने महिला के परिजन सहित बाढ़ में फंसे सभी लोगों को रेस्क्यू कर जिला पदाधिकारी को निकलवाने का आदेश दिया. बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बाढ़ ग्रस्त इलाकों का हवाई सर्वेक्षण कर रहे हैं. हेलीकॉप्टर के माध्यम से बाढ़ ग्रस्त अलग-अलग इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने में नीतीश कुमार जुटे हैं. सीएम नीतीश कुमार खगड़िया और भागलपुर जिले में बाढ़ की विभीषिका का जायजा लिया.

भागलपुर से अंजनी कुमार कश्यप की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News