CM नीतीश को पहले ही हो गया था हार का अंदेशा,कहा- शाम में चुनाव प्रचार से लौटते ही अहसास हो जाता था

CM नीतीश को पहले ही हो गया था हार का अंदेशा,कहा- शाम में चुनाव प्रचार से लौटते ही अहसास हो जाता था

PATNA: सीएम नीतीश ने एक बार फिर से सहयोगी बीजेपी पर इशारो-इशारो में बड़ा हमला बोला है। जदयू की दो दिवसीय राज्य परिषद की बैठक में बोलते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि चुनाव प्रचार के समय शाम में आते थे तभी संदेह पैदा हो गया था. नीतीश कुमार ने कहा कि उन्हें पता ही नहीं चला कि कौन दोस्त है और कौन दुश्मन. किस पर भरोसा करें किस पर नहीं करें. लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी. 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि एनडीए में 5 महीना पहलेही सब कुछ तय होना चाहिए था लेकिन ऐसा नहीं हुआ. इसका नतीजा हुआ कि जेडीयू 43 सीटों पर आकर ठहर गई। उन्होंने अपने नेताओं के मनोबल को बढ़ाते हुए कहा कि चिंता छोड़िए,और मजबूत होना है,परिवर्तन जरूर होगा.

मुख्यमंत्री के चेहरे पर चुनाव की हार का तनाव साफ-साफ दिख रहा था। उन्होंने कहा कि जेडीयू को कम सीटें आने की वजह से वे सीएम नहीं बनना चाहते थे। लेकिन भाजपा और दल के नेताओं की वजह से कुर्सी संभालना स्वीकार किया. उन्होंने कहा कि समय इतना कम था कि पता नहीं चला कौन साथ दे रहा है नहीं दे रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार के कामों को हमारे साथियों ने घर घर तक नहीं पहुंचाया. साथ ही लोगों ने दुष्प्रचार किया. सोशल मीडिया के बुरे पहलू का इस्तेमाल किया गया. हम हर जगह बोले की नई पीढ़ी को बताइए कितना काम हुआ... यह जरूरी है हर चीज़ के बारे में लोगों को बताना।अपने काम को बताना नितांत जरूरी है। 

सीएम नीतीश ने आगे कहा कि बिहार में हम काम कर रहे हैं, आगे भी करेंगे,हम हर जगह जाकर काम देखेंगे.पर्यावरण के लिए भी काम किया है, हर खेत तक सिंचाई का प्रबंध कर रहे हैं।


Find Us on Facebook

Trending News