CM नीतीश ने फिर से उठाई मांग: हर हाल में मिले विशेष राज्य का दर्जा, डिप्टी CM व BJP कोटे के मंत्रियों को दी कड़ी नसीहत

CM नीतीश ने फिर से उठाई मांग: हर हाल में मिले विशेष राज्य का दर्जा, डिप्टी CM व BJP कोटे के मंत्रियों को दी कड़ी नसीहत

PATNA : बिहार को विशेष राज्य के दर्जे की मांग पर राज्य मंत्रिपरिषद दो भागों में बंट गयी है। सरकार में शामिल भाजपा और जदयू अलग अलग राय रखती है। आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार को विशेष राज्य के दर्जे की मांग फिर से उठाई है। उन्होंने कहा की बिहार सबसे पिछड़ा राज्य है। सबसे पिछड़े राज्य को जब विकसित राज्य नहीं बनाया जायेगा। तब तक ट्रांसफोर्मिंग इंडिया कैसे होगा। अब भारत में विकसित राज्यों का ट्रांसफॉर्म नहीं होना है। 

उन्होंने कहा की अपने यहां भी किसी के मन में कोई बात आई है तो हम जरुर बात करेंगे। उन्होंने कहा विशेष राज्य का दर्जा किसी के खिलाफ नहीं राज्य के हित में हैं। मुख्यमंत्री ने कहा की देश के कई राज्यों को विशेष राज्य का दर्जा मिला हुआ है। उनका कितना विकास हुआ है। इस तरह की सुविधा सभी पिछड़े राज्यों को मिलेगा तो देश विकसित हो जायेगा। उन्होंने कहा की बिहार में ग्रोथ रेट बहुत ज्यादा है। लेकिन इतनी आबादी होने के बाद ग्रोथ कितना होगा। 

बता दें की पिछले दिनों बिहार की डिप्टी सीएम रेणु देवी ने कहा था कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा जरूरी नही है। केंद्र काफी मदद कर रहा है। उन्होंने कहा था की विशेष राज्य के दर्जा मिलने से क्या होगा। उससे अधिक मदद मिल रही है।

विवेकानंद की रिपोर्ट 




Find Us on Facebook

Trending News