प्रशांत किशोर के आरोपों पर सीएम नीतीश की दो टूक – पीके की बातों का महत्व नहीं

प्रशांत किशोर के आरोपों पर सीएम नीतीश की दो टूक – पीके की बातों का महत्व नहीं

पटना. चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर द्वारा बिहार में नीतीश राज में विकास नहीं होने के आरोपों पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कह है कि कौन क्या बोलता है उसका कोई महत्व नहीं है. शुक्रवार को बिहार पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के भवनों का शिलान्यास एवं कार्यारम्भ समारोह में शामिल होने के बाद पत्रकारों ने सीएम नीतीश से प्रशांत किशोर के आरोपों पर सवाल किया. 

बिहार में पिछले 15 साल में विकास का का कोई काम नहीं हुआ है के सवाल पर सीएम नीतीश ने कहा कि ये तो आप ही लोगों को पता है कि विकास किया है कि नहीं किया है. कौन क्या बोलता है उसका कोई महत्व नहीं है. महत्व है सत्य का. आप सब जानते हैं कि क्या हुआ है, कितना काम किया गया है. इनसब चीजों का तो हम आपसे आग्रह करेंगे कि खुद ही देखिये. प्रशांत किशोर का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि हमलोग किसी की बात का महत्व नहीं देते हैं कि कोई क्या बोला है. उसका हम जवाब दें लेकिन ये तो आप खुद जानते हैं, आप ही लोग बता दीजिए, जवाब दे दीजिए हम तो यही आग्रह करेंगे. 

वहीं केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा कोरोना काल के बाद सी.ए.ए. लागू करने से संबंधित बयान पर मुख्यमंत्री ने कहा- सबसे बड़ी बात है कि अभी कोरोना का केस बढ़ रहा है. हमको ज्यादा चिंता है कोरोना से लोगों की रक्षा करने की. पॉलिसी की बात होगी तो उसको अलग से देखेंगे. हमने बाकी चीजों को अभी देखा नहीं है.

मुख्यमंत्री ने कोयला संकट पर कहा कि संकट की स्थिति में जो भी राज्य सरकार से संभव है काम करने की कोशिश करेगी. आप तो जानते हैं कि संकट तो एक जगह पर होता नहीं है अनेक जगह पर होता है जो भी हमलोग कर सकते हैं वो करने का प्रयास करेंगे. 


Find Us on Facebook

Trending News