गदगद हो गए महामहिमः CM नीतीश ने 'राष्ट्रपति' को बिहारी कहा, रामनाथ कोविंद का जवाब- मुख्यमंत्री ने हमें 'बिहारी' कहा यह सुनकर 'गदगद' हो गया

गदगद हो गए महामहिमः CM नीतीश ने 'राष्ट्रपति' को बिहारी कहा, रामनाथ कोविंद का जवाब- मुख्यमंत्री ने हमें 'बिहारी' कहा यह सुनकर 'गदगद' हो गया

PATNA: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बिहार विधानसभा शताब्दी वर्ष कार्यक्रम का उद्घाटन किया। राष्ट्रपति के साथ राज्यपाल और मुख्यमंत्री हैं। इसके पहले राष्ट्रपति ने विधानसभा परिसर में शताब्दी वर्ष स्तंभ का शिलान्यास किया और परिसर में बोधि वृक्ष भी लगाए। फिर राष्ट्रपति ने विधानसभा अध्यक्ष के सामाजिक अभियान की शुरूआत की और स्मारिका का विमोचन किया। सदन में विमर्श ही संसदीय प्रणाली का मूल है" विषय पर व्याख्यान देते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि मुख्यमंत्री जी जब हमें बिहारी राष्ट्रपति कहकर संबोधित कर रहे थे तो हम अंदर से गदगद महसूस कर रहे थे। इसी बिहार से राष्ट्रपति बने राजेन्द्र प्रसाद, इनलोगों ने जो विरासत छोड़ी उसी विरासत को आगे बढ़ा रहा हूं। 

राष्ट्रपति सचिवालय़ के लोग कहते हैं-बिहार का निमंत्रण आता है तो आप टालते नहीं 

हमारे सचिवालय के लोग कहते हैं कि बिहार से आमंत्रण आये तो आप टालमटोल नहीं करते हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि मेरा बिहार से राज्यपाल से ही नाता नहीं है बल्कि और कुछ है जिसे मैं ढूंढता रहता हूं। विपश्यना पद्धति को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आगे बढ़ाया है,इसके लिए खासतौर पर सीएम नीतीश कुमार को आभार। बिहार हमेशा इतिहास रचता है। आज बिहार ने इतिहास रचा है। बिहार विधानसभा ने 100 साल पूरे किये हैं। देश ने भी आज इतिहास रचा है। 100 करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का इतिहास, अबसे कुछ देर पहले रचा गया है। राष्ट्रपति ने छठ पूजा की चर्चा करते हुए कहा कि आज यह पूजा ग्लोबल हो गया है। बिहार के एक गांव से लेकर विदेशों तक छठ पूजा की जाती है। उन्होंने कहा कि हम आशा करते हैं कि आजादी के 100 साल यानी 2047 तक बिहार मानव विकास में उच्च स्थान पर पहुंचेगा.


रामनाथ कोविंद असली बिहारी हैं

राष्ट्रपति की मौजूदगी में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज बिहार विधानसभा भवन के 100 साल पूरा होने के उपलक्ष्य में एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इस अवसर पर राष्ट्रपति ने समय दिया इसके लिए उन्हें हृदय से धन्यवाद देता हूं। महामहिम का रिश्ता यहां से काफी पुराना रहा है। राष्ट्रपति हमारे यहां बिहार में करीब 2 साल के लिए राज्यपाल रहे थे। यहीं से इन्हें राष्ट्रपति बनने का मौका मिला । हम तो कहते हैं कि ये बिहारी राष्ट्रपति हैं। ये तो सीधे बिहार के राज्यपाल से राष्ट्रपति बने। हमलोगों को बेहद खुशी होती है। राष्ट्रपति कोविंद अब तक 4 बार बिहार आ चुके हैं। 

बता दें, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तीन दिवसीय दौरे पर कल बुधवार को पटना पहुंच गए थे। एयरपोर्ट पर राज्यपाल फागू चौहान,मुख्यमंत्री नीतीश कुमार,प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव समेत कई मंत्रियों ने उनका स्वागत किया। एयरपोर्ट पर स्वागत कार्यक्रम कार्यक्रम के बाद वे राजभवन चले गये । फिर शाम में राजभवन में पटना हाईकोर्ट के न्यायधीशों के साथ हाई-टी में शामिल हुए । आज शाम विस अध्यक्ष के आवास पर सांस्कृतिक कार्यक्रम व डिनर में शामिल होंगे। राष्ट्रपति के लिए शुद्ध शाकाहारी व्यंजन की तैयारी की गई है। कल 22 अक्टूबर को राष्ट्रपति महावीर मंदिर और पटना सिटी स्थित गुरूद्वारा जायेंगे। इसके बाद 11 बजे दिन में वापस दिल्ली लौट जायेंगे।

Find Us on Facebook

Trending News