CM नीतीश को मिल गया जवाब! BJP के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह बोले- जो भी जनगणना हो वह 'समाज' हित के लिए हो, 'राजनीतिक' हित के लिए नहीं

CM नीतीश को मिल गया जवाब! BJP के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह बोले- जो भी जनगणना हो वह 'समाज' हित के लिए हो, 'राजनीतिक' हित के लिए नहीं

PATNA: बिहार में जातीय जनगणना को लेकर खूब राजनीति हो रही है। बीजेपी का छोटा भाई जेडीयू इस मुद्दे पर विपक्ष के साथ दिख रहा है। सीएम नीतीश और तेजस्वी के सुर इस इश्यू पर मिले हुए हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तेजस्वी यादव व सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात कर चुके हैं। बीजेपी ने मजबूरन अपने एक मंत्री को भी प्रतिनिधिमंडल में भेजा था। पीएम मोदी से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक स्वर से कहा कि प्रधानमंत्री ने हमारी मांग को ध्यान से सुना है। हमारी मांग को उन्होंने खारिज नहीं किया है। हालांकि बीजेपी जातीय जनगणना के पक्ष में खुलकर नहीं आ रही है। भाजपा को न तो निगलते बन रहा न उगलते। अब तक बीजेपी के कई नेता साफ कर चुके हैं कि जातीय जनगणना की बजाए देश में आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों की जनगणना होनी चाहिए। अब भाजपा के एक बड़े कद्दावर नेता ने साफ कह दिया कि जो भी जनगणना हो वो राजनीतिक हित के लिए नहीं बल्कि समाज हित में हो। 

सीएम नीतीश -तेजस्वी के सुर एक 

23 अगस्त को प्रधानमंत्री से मुलाकात कर सीएम नीतीश 24 तारीख को वापस पटना लौटे। पटना वापसी पर भी मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी मांग को नकारा नहीं गया है। हमें आशा है कि प्रधानमंत्री बिहार की मांग पर विचार करेंगे। वैसे भी निर्णय तो प्रधानमंत्री को ही लेना है। मतलब साफ है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले ही बीजेपी की बैशाखी पर कुर्सी पर टिके हों लेकिन जातीय जनगणना के मुद्दे पर वो पूरे तौरे पर विपक्ष के साथ हैं. पहले चरण में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जातीय जनगणना कराने का प्रस्ताव विधानमंडल से सर्वसम्मति से पास करा चुके हैं। तब भी भाजपा खुलकर विरोध नहीं कर सकी थी। अब जबकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव व अन्य विपक्षी दलों की मांग पर प्रधानमंत्री से मिलने का निर्णय लिया तब भी भाजपा विरोध करने में सक्षम नहीं हुई। भाजपा ने लाज बचाने के लिए नीतीश कैबिनेट के एक मंत्री जनक राम को बिहारी प्रतिनिधिमंडल में भेज दिया। 

राजनीतिक हित के लिए नहीं हो जनगणना-मंत्री

इधर, बिहार में जातीय जनगणना की मांग तेज होने पर बीजेपी नेताओं की अलग-अलग प्रतिक्रिया सामने आ रही है। बिहार बीजेपी के उपाध्यक्ष व विधान पार्षद राजेन्द्र प्रसाद गुप्ता का आलेख लिखा है। आलेख का शीर्षक है- तर्कसंगत नहीं है जातीय जनगणना की मांग । इस पर केंद्रीय मंत्री व बीजेपी के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह ने जातीय जनगणना की मांग पर बिना नाम लिये सीएम नीतीश पर तंज कसा है। गिरिराज सिंह ने अपने ट्वीटर पर लिखा है- जो भी जनगणना हो वह समाज के हित के लिए हो ,राजनीतिक हित के लिए नहीं। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के इस बयान से स्पष्ट है कि जातीय जनगणना की मांग राजनीतिक हित के लिए किये जा रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News