सेंट्रल हॉल के उद्घाटन समारोह में बोले सीएम नीतीश, यहां आकर संसद भवन की याद होगी ताजा

सेंट्रल हॉल के उद्घाटन समारोह में बोले सीएम नीतीश, यहां आकर संसद भवन की याद होगी ताजा

PATNA : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार विधान मंडल के सेंट्रल हॉल के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि यहां आकर संसद की याद ताजा होगी। अगर दिल्ली के संसद भवन में सेंट्रल हॉल है तो यहां के विधान मंडल भवन में भी सेंट्रल हॉल है। उन्होंने कहा कि विधान सभा के स्थापना के 98 साल बाद यहां सेंट्रल हॉल बन गया है।

सीएम नीतीश ने कहा कि संसद के सेंट्रल हॉल से काफी लगाव रहा है। सदन में भले ही पक्ष-विपक्ष के बीट टकराव रहता है लेकिन जब सदस्य सेंट्रल हॉल में आते हैं तो गले मिलते हैं। सेंट्रल हॉल में कोई झूठ नहीं बोलता है, हर कोई सच बोलता है। सेंट्रल हॉल में सदस्य अपनी पार्टी के अंदर की बात भी बोल देते हैं।

सीएम नीतीश ने कहा कि पुराने विधान मंडल भवन में उतनी जगह नहीं थी इसलिए नया भवन बनाया गया है। संसद की तर्ज पर यहां भी एक पुस्तकालय है जहां वर्तमान और पूर्व सदस्य आकर पढ़ सकते हैं। सेंट्रल हॉल में समोसा और इडली की व्यवस्था रहेगी। सेंट्रल हाल के फर्नीचर की तरह यहां भी फर्नीचर लगाया गया है।

अभी भी फेडरल सिस्टम पूरी तरह से लागू नहीं

केंद्र राज्य संबंधों को लेकर सीएम नीतीश ने कहा कि दोनों के बीच अच्छा संबंध रहना चाहिए। देश में अभी भी फेडरल सिस्टम पूरी तरह से लागू नही हो पाया है। केंद्र और राज्य के कुछ अलग-अलग अधिकार हैं। तीनों विंग का अपना अलग-अलग काम है। सभी को अपनी जिम्मेवारी का निर्वाह करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी को संविधान के दायरे में रहकर ही अपना विचार रखना चाहिए।

Find Us on Facebook

Trending News