पटना में पुलिसिया लाठीचार्ज की CM नीतीश को जानकारी नहीं, पूछा गया तो अवाक रह गए, फिर कहा- तुरंत पता करते हैं

पटना में पुलिसिया लाठीचार्ज की CM नीतीश को जानकारी नहीं, पूछा गया तो अवाक रह गए, फिर कहा- तुरंत पता करते हैं

PATNA: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समाधान यात्रा पर हैं. अपनी यात्रा के पहले दिन नीतीश कुमार ने बेतिया में जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के साथ मीटिंग की। मीटिंग में विधायकों ने सिस्टम की पूरी पोल खोल दी। रही-सही कसर मीटिंग से बाहर निकलने पर जेडीयू नेता ने पूरी कर दी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मीटिंग से बाहर निकले, इस दौरान एक बार फिर से मीडिया से बात की। इसी दौरान जेडीयू के एक नेता ने सरकारी योजना में लूट की पूरी पोल खोलकर रख दी. वहीं, पटना में बीएसएससी अभ्यर्थियों पर पुलिसिया लाठीचार्ज के बार में मुख्यमंत्री को जानकारी ही नहीं. 

लाठीचार्ज के बारे में नीतीश को जानकारी नहीं 

पटना में बीएसएससी परीक्षार्थियों पर पुलिसिया लाठीचार्ज के सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा कि कहां लाठीचार्ज हुआ है?  कहां,किसपर लाठीचार्ज हुआ है? कहां लाठीचार्ज किया है? मुख्यमंत्री को बताया गया कि पटना में बीएसएससी अभ्यर्थियों पर. इस पर नीतीश कुमार ने कहा कि पता कर लेते हैं. हम तो यहां की सेवा कर रहे हैं . देश यात्रा पर मुख्यमंत्रई नीतीश कुमार ने कहा कि हम पहले यहां घूम रहे हैं. इसके बाद हाउस(विधामंडल सत्र) है। फिर कोई बुलाएगा तो जाएंगे . यह सब बात छोड़ दीजिए

नीतीश कुमार को अपनी ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुए जेडीयू किसान सेल के प्रदेश सचिव ने मुख्य़मंत्री से कहा कि हम आपकी पार्टी के नेता हैं. काफी पुराने वर्कर हैं. हमारी बात सुन लीजिए. यहां सरकारी योजनाओं में भारी लूट मची है। योजना में जो भ्रष्टाचार है, घोर अन्याय है. इसके बाद नीतीश कुमार ने उस शख्स से कागज मांगा और कहा कि रिपोर्ट दो ना हम देख लेते हैं. इसके बाद जेडीयू नेता ने कहा कि हमने कागज दे दिया है, आप देखिए. इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि ठीक है दम देख लेते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज जीविका समूह के साथ मीटिंग हुई. सभी अधिकारियों. नेताओं के साथ बातचीत हुई है. जिले के विधायक, विधान पार्षद जो लोग भी थे, सब लोगों ने अपनी बात कही है. जिले में जो काम चल रहा है उसके बारे में जानकारी दी गई. इस पर ही पूरा डिस्कशन हुआ है. जो कुछ भी कमी है, कुछ जगह पर तो हम खुद भी देख लिए, कई जगह पर शिकायत आई है, उसके बारे में कह दिया गया है कि 1 महीने के अंदर पूरी रिपोर्ट तैयार केरं. फिर जो शिकायतकर्ता है उनको भी दीजिए और हम लोगों को भी भेजिए .ताकि एक-एक चीज को हम देखें. मीटिंग में कई तरह की बातें आई हैं.


Find Us on Facebook

Trending News