CM नीतीश के उद्घाटन से पहले टूटा पुल,तेजस्वी बोले- बिहार में किसी की जवाबदेही नहीं, नंदकिशोर यादव इस्तीफा दें

CM नीतीश के उद्घाटन से पहले टूटा पुल,तेजस्वी बोले- बिहार में किसी की जवाबदेही नहीं, नंदकिशोर यादव इस्तीफा दें

पटना :  तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार के उद्घाटन से पहले पथ पुल बहने पर बड़ा बयान दिया है. तेजस्वी यादव ने कहा है कि मुख्यमंत्री ने जिस पुल का उद्घाटन किया. आज नीतीश कुमार ने इतिहास बनाने का काम किया. उनके राज में उद्घाटन से पहले पुल टूट जाता है, आज तो हद है एक तरफ पुल का उद्घाटन हो रहा था और दूसरी तरफ पुल कट कट रहा था. उद्घाटन एक तरफ हो रहा है दूसरी तरफ पुल धंस रहा है. किसी की भी जवाबदेही तय नहीं.


आगे तेजस्वी यादव ने कहा है कि एक तरफ मुख्यमंत्री उद्घाटन कर रहे हैं दूसरी तरफ पथ पुल का बह रहा है. इंजीनियर लगे हैं पुल निर्माण निगम के लोग लगे हैं,  कुछ किलोमीटर की दूरी पर सारण का तटबंध में टूटा है. तेजस्वी यादव ने आगे मुजफ्फरपुर का बंगरा घाट अप्रोच पथ में कटाव दिखाया. और कहा कि 509 करोड़ रुपए की लागत से पुल बना. क्या कांटेक्टर  पर कार्रवाई हुई ? मंत्री पर कार्रवाई हुई ? किसी पर भी कार्रवाई नहीं.

नीतीश कुमार जी बिहार में भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह है. मंत्रियों पर कार्यवाही नहीं की गई. नंदकिशोर यादव पर कार्यवाही करनी चाहिए. बिहार का कौन सा प्रोजक्ट डूब गया. विपक्ष सवाल नहीं पूछेगा.

अभी भी उद्घाटन चल रहा है, खुशियां मनाई जा रही है. मैं मुख्यमंत्री जी को खुली बहस की चुनौती देता हूं. विधानसभा में ये आते नहीं हैं. बहस के वक्त विधानसभा में रहते नहीं हैं.पहले विपक्ष के नेताओं के सवाल सुने जाते थे. अब डिबेट में रहते नहीं हैं.


गौरतलब है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को गोपालगंज के बंगराघाट पुल का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन किया. उद्घाटन सुबह 11:30 बजे होना था. इससे पहले ही मंगलवार रात करीब 12:30 पुल की एप्रोच रोड बाढ़ के पानी में बह गई. करीब 50 मीटर सड़क टूटी, जिसे आनन-फानन में ठीक किया गया. उद्घाटन से करीब 30 मिनट पहले मरम्मत पूरी हुई.

बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के अधिकारी मौके पर मौजूद थे. बड़ी संख्या में मजदूर और 2 जेसीबी लगाकर सड़क को ठीक किया गया.जहां रोड टूटी वह इलाका सारण के सतजोड़ा बाजार के पास है.

11 अप्रैल 2014 को मुख्यमंत्री ने 509 करोड़ की लागत से महासेतु परियोजना का शिलान्यास राजापट्टी में किया था. पुल के चालू होने से 6 जिलों की करीब 8 लाख की आबादी की आवाजाही में सहूलियत होगी. इससे गोपालगंज, सीवान और सारण से मुजफ्फरपुर की दूरी 55 किमी, दरभंगा की दूरी 65 किमी और जनकपुर की दूरी 70 किमी कम हो जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News