'सिपाही विद्रोह' को लेकर काफी गुस्से में दिखे CM नीतीश, अधिकारियों की लगाई क्लास

'सिपाही विद्रोह' को लेकर काफी गुस्से में दिखे CM नीतीश, अधिकारियों की लगाई क्लास

PATNA : पटना पुलिस लाइन में बवाल के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पुलिस पदाधिकारियों की जमकर क्लास लगायी है। 2 नवंबर को पटना में हुए 'सिपाही विद्रोह' के बाद आज सोमवार को मुख्यमंत्री ने अपने आवास पर एक हाईलेवल की बैठक बुलायी थी। बैठक में मुख्य सचिव, डीजीपी, होम सेक्रेट्री सहित पुलिस मुख्यालय से सभी बड़े अधिकारी शामिल थे।

सूत्रों से जो जानकारी मिली है उसके अनुसार पुलिस मुख्यालय और पटना पुलिस की कार्यशैली से काफी खासा नाराज दिखे। उन्होंने अधिकारियों को क्लास लगाते हुए कहा कि पुलिस संबंधी जो भी निर्णय हो, वो तेजी से लें। उन्होंने स्पीडी ट्रायल पर भी एडीजी मुख्यालय से पूछा, स्पीडी ट्रायल में किस तरह की समस्या आ रही है, इसमें तेजी क्यों नहीं आ रही है। 

उन्होंने एडीजी मुख्यालय से पूछा कि आप किसी एसपी से स्पीडी ट्रायल के मुद्दे पर बात करते हैं। मुख्यमंत्री ने साफ तौर पर कहा कि सिपाहियों की ट्रेनिंग किसी भी पुलिस लाइन में अब नहीं होगी। BMP को चिन्हित कर जहां मूलभूत सुविधा हो वहीं पर ट्रेनिंग कराई जाए। सीएम ने कहा कि राजगीर में भी काफी जगह है वहां भी कुछ सिपाहियों की ट्रेनिंग कराई जा सकती है। 

नीतीश कुमार ने साफ तौर पर कहा कि अपराधियों का मनोबल किसी भी हाल में बढ़ना नहीं चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस तरह की घटना पुलिस लाइन में घट जाती है और किसी को कोई जानकारी नहीं रहती है इसका मतलब जिले के एसपी पुलिस लाइन का लगातार विजिट नहीं करते हैं ? 

पुलिस लाइन में हुए बवाल के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने कहा, जो भी दोषी हैं उन्हें बख्शा नहीं जाए। जिन्हें निलंबित किया गया है उनका प्रोसीडिंग समय-समय पर पूरा हो। अगर महिला सिपाही ने छुट्टी मांगी थी तो किस ने छुट्टी नहीं दी उस पर भी कार्रवाई होनी चाहिए। सभी तरह की कार्रवाई होनी चाहिए और सिपाहियों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए क्योंकि सिपाही अगर अनुशासनहीनता करेंगे तो इसका संदेश जनता में सही नहीं जायेगा। 

Find Us on Facebook

Trending News