सीएम नीतीश कुमार को आखिर मोबाइल से क्यों है एलर्जी, पढ़िए क्या है पूरा माजरा

सीएम नीतीश कुमार को आखिर मोबाइल से क्यों है एलर्जी, पढ़िए क्या है पूरा माजरा

पटना- सीएम नीतीश इन दिनों मोबाइल से कुछ खफा खफा सा दिख रहे हैं. आज उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान मंच से अपनी नाराजगी भी जाहिर की. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि आज मोबाइल ने सबकुछ भूला दिया है. सीएम नीतीश ने कहा कि घर में भी रहिए वहां भी लोग आपस में बातचीत करने के बजाए मोबाइल में ही लगे रहते हैं। सीएम नीतीश ने कहा कि मोबाइल की दुनिया भी अजीब हो गयी है।अगर कोई बीमार हो जाए तो लोग उससे मुलाकात के बजाए मोबाइल पर जल्द स्वस्थ होने की बात लिखने लगते हैं। अगर किसी की मौत हो जाए तो उसके परिवार को ढाढस बंधाने की बजाए मोबाइल पर एक लाइन लिख देते हैं। मंच से ही सीएम नीतीश ने एक वाक्या सुनाया और कहा कि जदयू के एक नेता की मौत हो गयी थी।सूचना मिलने पर जब हमने उसके बेटा को फोन किया और पूछा कि जानकारी क्यों नही दी ?उसका जवाब हैरान करने वाला था। उसने कहा कि व्हाट्एप्प पर लिख दिए थे। नीतीश कुमार ने ये बातें आईटी विभाग के कार्यक्रम में शिरकत करने के दौरान कही.

भाषण मे 25 फीसदी लोग मोबाइल देखते हैं
सीएम नीतीश ने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की तरफ इशारा करते हुए कहा कि अभी चुनाव आने वाला है।आप भाषण देने जाइएगा तो देखिएगा कि 25-30 फीसदी लोग मोबाइल में इधर-उधर करते दिख जाएंगे। काम की बात सुनने की बजाए लोग मोबाइल मे ही लगे रहते हैं।

डिप्टी सीएम ने लालू प्रसाद पर बोला हमला
कार्यक्रम मे मौजूद डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने बिना नाम लिए लालू प्रसाद पर हमला बोला. डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि कुछ समय पहले तक कुछ लोग कहते थे कि आईटी-वाईटी क्या होता है वही लोग आज जेल में बैठ कर ट्वीट कर रहे हैं। सुशील मोदी ने कहा कि आज का जमाना तकनीक का है। अगले 2 महीनो में बिहार के 5 हजार पंचायतों में कॉमन सर्विस सेंटर की शुरूआत हो जाएगी।


Find Us on Facebook

Trending News