CM नीतीश बोले-भला बताइए कि हम यह काम कर सकते हैं....मैं तो यह सोच भी नहीं सकता....

CM नीतीश बोले-भला बताइए कि हम यह काम कर सकते हैं....मैं तो यह सोच भी नहीं सकता....

PATNA: बिहार विधानसभा सत्र के अंतिम दिन राज्यपाल के अभिभाषण पर सरकार की तरफ से चर्चा करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना का संकट फिर से बढ़ा है। बिहार में हर दिन करीब एक लाख टेस्ट हर दिन किये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने सदन में बताया कि पीएम मोदी के साथ कोरोना वैक्सिन पर चर्चा हुई है। अभी दवा आने वाने वाली है,इसको लेकर तैयारी की जा रही है। राज्य सरकार दवा को लेकर गाइडलाइन बना रही है। सबसे पहले स्वास्थ्य सेवा में लगे लोगों को वैक्सिन दी जाएगी। इसके बाद मुख्यमंत्री ने बिना नाम लिये तेजस्वी यादव पर भी बड़ा हमला बोला।साथ ही यह भी कहा कि एक वोट से जीत भी जीत होती है। 

भला बताइए हम यह काम कर सकते हैं?

तेजस्वी पर अटैक करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि हम तो कुछ कहने नहीं जा रहे। जो चार्जशीटेड है वो हम पर सवाल उठा रहा है। मेरे खिलाफ हत्या के एक मामले को लेकर सुप्रीमकोर्ट लोग गए लेकिन वहां से भी हार का सामना करना पड़ा। भला बताइए क्या हम यह काम कर सकते हैं,जरा सोचिं...क्या हम ऐसा काम कर सकते हैं......मुख्यमंत्री ने कहा कि नियमों का उलंघन कर काम नहीं होना चाहिए. अध्यक्ष महोदय को भी चाहिए कि नियमों का उलंघन नहीं हो ताकि सदन की गरिमा बनी रहे। अध्यक्ष महोदय को इसकी पूरी जिम्मेदारी बनती है। नीतीश कुमार ने कहा एक वोट से भी जीत जीत होती है। किसी को कोई परेशानी है तो कोर्ट जाए। 

सात निश्चय में घोटाला करने वालों को छोड़ेंगे नहीं

नीतीश कुमार ने आगे कहा कि आज विधानमंडल का सत्र खत्म होने के बाद आगे कई काम करेंगे। सबसे पहला काम करेंगे कि सात निश्चय में नल-जल योजना समेत तमाम योजनाओं की समीक्षा करेंगे।आगे की कार्ययोजना तैयार करेंगे और काम शुरू करायेंगे। नीतीश कुमार ने कहा कि काम करना नहीं छोड़ेंगे। मुख्यमंत्री ने विधायकों से आह्वान किया कि आपको नल-जल में कहीं भी गड़बड़ी मिले तो तत्काल शिकायत करिए कार्रवाई करेंगे। आप विश्वास कीजिए किसी को छोड़ेंगे नहीं।

जनता का जनादेश स्वीकार है

सीएम नीतीश कुमार ने आगे कहा कि  बताइए कि किस क्षेत्र में काम नहीं हुआ है? सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को नौकरी नहीं दी गई है क्या...स्कूल से बाहर रहने वाले बच्चो को स्कूल तक पहुंचाया।नीतीश कुमार ने आगे कहा कि जनता मालिक है,जनता ने जो फैसला दिया है वह स्वीकार है। बिना नाम लिये तेजस्वी पर अटैक करते हुए कहा कि जब सात निश्चय लागू किया गया था तब हमारे साथ कौन लोग थे। हमने जब गड़बड़ी करने वालों का साथ छोड़कर एनडीए के साथ मिलकर सरकार बनाई तो क्या सात-निश्चय को छोड़ दिया,हम काम करते रहे....आगे भी करेंगे।  नीतीश कुमार ने कहा कि नल-जल में घोटाला हुआ है तो जानकारी दें वैसे लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

तेजस्वी को जमकर सुनाई खऱी-खोटी

तेजस्वी यादव के आरोपों से बौखलाये नीतीश कुमार ने बड़ा हमला बोला। उन्होंने सदन में बोलते हुए कहा कि हम अब तक चुप थे। यह हमारे बेटा के समान है। इसके बाप हमारे उम्र के हैं. ये बकवास कर रहा है।ये झुठ बोलता है। गुस्से में लाल नीतीश कुमार ने कहा कि तुमको डिप्टी सीएम किसने बनाया था। आप चार्जशीटेड हो, तुम क्या करते हो हम सब जानते हैं।2017 में घोटाले के आरोप लगे थे तो क्यों नहीं एक्सप्लेन किये थे? सारे लोग तुम्हारा एक-एक बात जानते हैं.

तुम्हारे बाप को विधायक दल का नेता किसने बनाया था?

तुम्हारे बाप का भी सारा राज हम जानते हैं.नीतीश कुमार ने कहा कि अपने पिता से पूछना कि उनको विधायक दल का नेता किसने बनवाया था. गुस्से में लाल नीतीश कुमार ने कहा कि बोलते रहता है लेकिन हम बर्दाश्त किये जा रहे थे। इसलिए कि यह हमारे भाई समान व्यक्ति का बेटा है। लेकिन ये फालतू का बोलते रहता है। अध्यक्ष जी जांच कराइए और इसके खिलाफ कार्रवाई होगी। इसके बाद राजद सदस्य हंगामा करने लगे। विवाद बढता देख विस अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही आधे घंटे के लिए स्थगित कर दी।

तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर किय़ा निजी अटैक

दरअसल,तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश पर निजी हमला बोला था। विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर निजी हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि सीएम नीतीश पर हत्या का केस दर्ज है। स्क्रिप्ट चोरी मामले में कोर्ट ने जुर्माना लगाया है। इतना ही नहीं तेजस्वी यादव ने निजी अटैक करते हुए कह दिया कि नीतीश कुमार को एक ही बेटा है..पता नहीं वो भी उनका है या नहीं...शायद बेटी पैदा होने की वजह से दूसरा बच्चा पैदा नहीं कर सके।

Find Us on Facebook

Trending News