सीएम नीतीश का लालू-तेजस्वी पर बड़ा अटैक,कहा- काम-धाम तो करना नहीं सिर्फ धन बटोरना ही है अंतिम लक्ष्य

सीएम नीतीश का लालू-तेजस्वी पर बड़ा अटैक,कहा- काम-धाम तो करना नहीं सिर्फ धन बटोरना ही है अंतिम लक्ष्य

PATNA :  बिहार विधानसभा चुनाव के चुनावी मैदान में उतरने के लिए आज सीएम नीतीश ने चुनावी बिगूल फूंक दिया है. जदयू की वर्चुअल रैली के जरिए सीएम नीतीश कुमार ने चुनावी दंगल के लिए शंखनाद किया. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हमारी सरकार हर क्षेत्र में काम कर रही है.सीएम नीतीश कुमार ने आज वर्चुअल रैली के दौरान लालू यादव पर जमकर हमला बोला है.साथ ही सीएम नीतीश ने ऐलान किया कि बिहार में शराबबंदी से कोई समझौता नहीं होगा।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू परिवार पर अब तक का सबसे बड़ा अटैक किया और कहा कि पूर्व सीएम दारोगा राग की पौत्री ऐश्वर्या राय के साथ क्या हुआ?इतना ही नहीं सीएम नीतीश ने बिना कोई रोजगार के संपत्ति बनाने को लेकर भी सवाल खड़े किए।

कहां से धन आया जवाब नहीं...

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू परिवार पर खूब बोले.उन्होंने कहा कि राजनीति में बहुत लोगों को धन बनाने से ही मतलब है.उको काम से मतलब नहीं होता।लेकिन हमको तो काम से ही मतलब है।नीतीश कुमार ने कहा कि हम साथ थे तो अवैध धन बनाने की बात सामने आई। हमने पूरे मामले को जनता से बतलाने को कहा कि आप बताइए कि ये धन कहां से आया।लेकिन उन्होंने नहीं किया कि ये धन कहां से आया तो हम अलग हो गए।

ऐश्वर्या राय के साथ खड़े हुए सीएम नीतीश

सीएम नीतीश कुमार पहली दफे लालू परिवार पर बोला।उन्होंने तेज प्रताप की पत्नी ऐश्वर्या राय को लेकर लालू परिवार पर बड़ा अटैक किया।उन्होंने कहा कि यह परिवार है जिसने ऐश्वर्या राय के साथ कैसा सलूक किया।एक पढ़ी-लिखी लड़की के साथ इन लोगों ने कैसा सलूक किया सब लोग जान गए हैं।मुख्यमंत्री ने कहा कि दारोगा प्रसाद राय की पुत्री ऐश्वर्या राय के साथ क्या हुआ है... कितनी पढ़ी लिखी हुई है... लोग शिक्षा की बात करते हैं लेकिन ऐश्वर्या के साथ क्या हुआ... यह पारिवारिक मामला है इसलिए ज्यादा हम नहीं कहेंगे.
शराबबंदी से कोई समझौता नहीं

मुख्यमंत्री ने ऐलान कर दिया कि वे जब तक सरकार में हैं शराबबंदी से कोईसमझौता नहीं कर सकते ।बिहार की महिलाओं और युवाओं की मांग पर हमने शराबबंदी कानून लागू किया।इस कानून को लागू होने के बाद कुछ लोगों को परेशानी हुई वही लोग अनाप-शनाप बोल रहे बाकि सभी लोग इससे खुश हैं।सीएम नीतीश ने कहा कि प्रशासन के अंदर और बाहर कुछ लोग ऐसे हैं जो गड़बड़ करते हैं उन पर हमारी नजर है।सीएम नीतीश ने कहा कि शराबबंदी के बाद अवैध काम में लगे सरकारी अधिकारियों और कर्मियों पर कार्रवाई हुई है।अब तक 322 सरकारी सेवकों पर प्राथमिकी  हुई है, जबकि 159 लोगों को बर्खास्त किया गया है. सभी लोग शराब के अवैध धंधे में लगे हुए थे ऐसे कर्मियों पर सरकार ने कड़ी कार्रवाई की है.

दंगा आपके राज में हुआ मदद हमने की

सीएम नीतीश कुमार ने भागलपुर दंगे को याद करते हुए बताया कि भागलपुर दंगा में  लोग कुछ नहीं कर पाए थे. हम लोग जब सरकार में आए तो हमने पूरे मामले की जांच करवाई और मृतक के आश्रित को ₹5000 प्रति व्यक्ति के हिसाब से पेंशन दिया.  मकान की क्षतिपूर्ति  की गई , सीएम नीतीश ने लालू का बिना नाम लिए पूछा कि आपने क्या किया. भागलपुर दंगा कब हुआ? भागलपुर दंगा पीड़ितों के लिए आपने कुछ किया नहीं किया. जब 15 साल के बाद हमें मौका मिला तो हमने भागलपुर के दंगा पीड़ितों की मदद की. याद कीजिए बोलिए मत. दंगा पीड़ितों की मदद हमने की आप ने नहीं.

नियोजित शिक्षकों के लिए और करेंगे
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वर्चुअल रैली के दौरान बिहार की शिक्षा व्यवस्था पर भी चर्चा की. उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में भी हमने काम किया है. इसके साथ ही उन्होंने नियोजित शिक्षकों को लेकर कहा कि हमने शिक्षकों के लिए इपीएफ योजना लागू किया है. कोरोना की वजह से आर्थिक दिक्कत है इसलिए इस साल से वेतन नहीं बढ़ पाया है लेकिन 1 अप्रैल 2021 से सभी शिक्षकों के वेतन में 15 फीसदी से अधिका राशि की बढोत्तरी की जाएगी. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि वो शिक्षकों की हर जायज मांग पर विचार कर रहे हैं और उनकी बेहतरी के जो होगा किया जाएगा.

किसानों के लिए हम कितना काम कर रहे हैं
सीएम नीतीश कुमाने वर्चुअल रैली के दौरान किसानों के हक की बात की. उन्होंने कहा कि अब खेती के लिए बिजली का कनेक्शन दे रहे हैं .इसके लिए अलग से फीडर लगाया जा रहा है इसके लिए सरकार ने 1329 करोड़ रुपए दिए हैं. उन्होंने कहा कि किसानों को पहले डीजल पर सिंचाई के लिए ₹100 प्रति घंटे खर्च होते हैं अब बिजली से मात्र ₹5 खर्च हो रहे हैं .उन्होंने कहा कि अब बताइए हम लोग कितना सेवा कर रहे हैं, कहने के लिए चाहे लोग जो भी कहें .लेकिन उनकी बातों में कोई सच्चाई नहीं है.

लालू पर सीएम नीतीश के करारा तंज
सीएम नीतीश कुमार ने बिना नाम लिए राजद सुप्रीमो लालू पर जमकर हमला बोला.उन्होंने कहा कि कुछ लोग अंदर है फिर भी बाहर में एक आदमी रख लिया है जो दिन भर अनाप-शनाप ट्वीट करते रहता है. उन्होने कहा कि भला आप ही बताइए जो जेल में है वो ट्वीट कैसे कर सकता है. इसका मतलब है कि बाहर में एक आदमी को हायर किया गया है जो ये सब कर रहा है.

मियां बीवी के राज में गाड़ी से रायफल निकालता था
जदयू की वर्चुअल रैली में सीएम नीतीश कुमार ने लालू राज पर जमकर अटैक किया.नीतीश कुमार ने कहा कि लालू राज में जो अपराध था उसके बारे में बताना चाहिए. मियां बीबी के राज में लोग कैसे गाड़ी से बदूंक निकाल कर चलते थे. आगे उन्होंने कहा कि हम लोगों को मौका मिला तो पहले क्या थी विधि व्यवस्था की और आज क्या है. बिना नाम लिए तेजस्वी पर अटैक करते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि लोग क्या क्या बोलते हैं और खबर छप भी जाती है.  पहले सामूहिक नरसंहार होता था और आज क्या स्थिति है जरा बताइए... हर प्रकार से हम लोगों ने काम किया, लेकिन कुछ लोग कुछ भी बोलते रहते हैं.  उन्होंने कहा कि हमारी सरकार क्राइम, करप्शन और कम्युनलिज्म को हम बर्दाश्त नहीं कर सकती है. जीरो टोलरेंस पर हम काम करते हैं और कहीं भी गलत चीज बर्दाश्त नहीं कर सकते.

लोग हमको क्विंटलिया बाबा कहने लगे
सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हम लोगों को जब काम करने का मौका मिला तो बाढ़ राहत पर काम करना शुरू किया.  2007 में बाढ़ से 22 जिला प्रभावित हुई थी, ढाई करोड़ की आबादी इससे प्रभावित हुई थी . तब  हमारी सरकार ने  किस तरीके से काम किया किसी से छुपा हुआ नहीं है. हम लोग पीड़ित परिवार के बीच  एक-एक क्विंटल अनाज बांटने लगे. जब हम दरभंगा इलाके में गए तो लोग हमें क्विंटलियाा बाबा बोलने लगे. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि ये सब बातें युवाओं को जानना चाहिए.

लॉकडाउन में मजदूर भाइयों की सरकार ने की मदद
सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा कि जब लॉकडाउन लागू हुआ उसके बाद बिहार के बाहर फंसे हुए लोगों को हमने मदद पहुंचाई. हमने लोग बाहर फंसे हुए मजदूरों से संपर्क साधा और उनके खाते में एक-एक हजार रुपए की राशि भेजी. बिहार सरकार ने मुख्यमंत्री राहत कोष से 20 लाख 95000 लोगों के खाते में राशि भेजी गई. 

काम करते हैं प्रचार नहीं
सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हमलोग काम करने में यकीन करते हैं प्रचार में नहीं. उन्होने कहा लोगों की सेवा करना हमारा कर्तव्य है.कुछ लोगों का काम कम करना है और प्रचार अधिक करना है जबकि हमें प्रचार पर विश्वास नहीं है हमें तो कर्म करना है.

Find Us on Facebook

Trending News