नीतीश सरकार ने जारी किये दो बड़े आदेश,पत्र जारी होने के बाद कन्फ्यूज हो गए सरकारी कर्मी

नीतीश सरकार ने जारी किये दो बड़े आदेश,पत्र जारी होने के बाद कन्फ्यूज हो गए सरकारी कर्मी

PATNA: नीतीश सरकार के दो विभागों के महत्वपूर्ण पत्र ने बिहार के लोगों को उलझा कर रख दिया।दोनों विभागों ने आज जो पत्र जारी किया है उसके बाद लोग कंफ्यूज हो गए कि आखिर सही क्या है? वित्त विभाग और शिक्षा विभाग की तरफ से जारी दो पत्रों से सरकार की लापरवाही की पोल खुल गई।

वित्त विभाग के पत्र से टेंशन में सरकारी कर्मी

दरअसल वित्त विभाग ने आज ईद पर्व को लेकर मई महीने के वेतन भुगतान को लेकर एक आदेश जारी किया था। आदेश में कहा गया कि सभी पदाधिकारियों एवं कर्मियों को मई  2020 के वेतन का भुगतान ईद से पहले हो जाएगा। वित्त विभाग के अपर सचिव ने सभी प्रधान सचिव, कमिश्नर और डीएम को पत्र लिखा था। पत्र में कहा गया था कि ईद उल फितर को ध्यान में रखते हुए मई महीने के वेतन को 20 मई से कोषागार में प्रस्तुत किया जाए।लेकिन उसी पत्र में नीचे लिखा गया कि वेतन भुगतान 20 जून 2020 से प्रारंभ होगा। सरकारी कर्मी टेंशन में आ गए कि एक तरफ सरकार कह रही कि इस बार 20 मई को वेतन मिल जाएगा।वही तरफ लिखा गया है कि अगले महीने की 20 तारीख को वेतन मिलेगा।

पत्र जारी होने के एक दिन बाद अफसर ने किया हस्ताक्षर

वही शिक्षा विभाग के एक पत्र से भी लोग परेशान हो गए।दरअसल हड़ताली नियोजित शिक्षकों को लेकर शिक्षा विभाग ने आज एक आर्डर जारी किया था। जो आदेश जारी किया गया था उसमें भी बड़ी त्रुटि दिखी। पत्र पर अधिकारी ने 19 मई की तारीख में हस्ताक्षर किया था।लेकिन वह पत्र 18 मई को जारी बताया जा रहा था।लोग यह समझ नही पा रहे थे कि जब पत्र जारी हो गया उसके बाद पदाधिकारी का हस्ताक्षर कैसे हो सकता है।नियोजित शिक्षक आर्डर पर ही सवाल उठाने लगे।

Find Us on Facebook

Trending News