CM नीतीश ने अफसरों-इंजीनियरों से की गुजारिशः हम बार-बार कह रहे...सिर्फ ठेकेदारी से काम नहीं चलेगा, पुल-सड़क-भवन का मेंटेनेन्स 'डिपार्टमेंट' खुद करे

CM नीतीश ने अफसरों-इंजीनियरों से की गुजारिशः हम बार-बार कह रहे...सिर्फ ठेकेदारी से काम नहीं चलेगा, पुल-सड़क-भवन का मेंटेनेन्स 'डिपार्टमेंट' खुद करे

PATNA: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज चार स्टेट हाईवे का उद्घाटन किया। सीएम नीतीश ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पथ निर्माण विभाग के ₹1,121.32 करोड़ की लागत से 130.21 किलोमीटर की चार सड़कों का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इंजीनियरों से कहा कि सिर्फ ठेकेदारी से काम नहीं चलेगा। इंजीनियर मेंटेनेन्स का काम करें। 

केंद्र सरकार ने राशि नहीं दी-सीएम

इस अवसर पर कार्यक्रम को सं बोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि  कभी सोचा था कि पांच घंटे में किसी भी जिला से पटना पहुंच जायेंगे। पहले की क्या स्थिति थी?  केंद्र की कई योजनाओं को भी ठीक कराया। केंद्र की जो सड़के खराब थी हमलोगों ने 1000 करोड़ रू खर्च कर ठीक कराया। हमलोगों को लगा कि राशि मिल जायेगी लेकिन नहीं मिला। यह अलग बात है....। पथ निर्माण विभाग ने 120 स्थानों को चिन्हित किया बाईपास निर्माण के लिए। 

इंजीनियर मेंटेनेन्स काम खुद करें-CM 

सीएम नीतीश ने कहा कि हमलोगों ने तय किया है कि सड़क-पुल का निर्माण करेंगे साथ-साथ उसका मेंटेनेन्स करेंगे।रख-रखाव का काम डिपार्टमेंट करे,हम बार-बार कह रहे हैं। खाली ठेकेदारी से काम नहीं चलता है। कर्मी और इंजीनियर की कमी है तो नियुक्त करेंगे। आज कल इंजीनियर का क्या काम है,सिर्फ देखभाल ही करते हैं न? इंजीनियर देखभाल और केवल सेंक्शन व कागजी कार्रवाई करते हैं। हमने तो भवन निर्माण,पथ निर्माण को कहे हैं। हम प्रार्थना करते हैं कि आप लोग मेंटेनेन्स का काम खुद करिए । ठेकेदारी से काम नहीं चलेगा। रेलवे की तरह हमने भी सुझाव दिया था कि मेंटेनेन्स काम इंजीनियर देखें,जैसे रेलवे करता है। हम भी इंजीनियर ही हैं. हमारे साथ पढ़े कब का रिटायर हो गये। डिपार्टमेंट में इंजीनियर चाहेगा कि यह काम नहीं हो,क्यों कि मिहनत करना पड़ेगा। अगर जिम्मेदारी देंगे और मेंटेनेन्स नहीं करेगा तो कार्रवाई भी होगी। 

सीएम नीतीश ने कहा कि पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा अब जाने वाले हैं। जाते-जाते यह काम करवा दीजिए। सीएम ने इंजीनियरों से कहा कि भूलियेगा मत,हम भी वही पढ़ाई पढ़े हैं. ऐसा काम करिए कि नाम हो। बढ़िया काम करिएगा तो पॉलिटिकल लोगों से अधिक इंजीनियरों को सम्मान मिलेगा। 




Find Us on Facebook

Trending News