पीएम मोदी को हटाने की सीएम नीतीश की पहल का दिखा असर, उत्तर प्रदेश में अखिलेश ने पोस्टर लगाकर किया समर्थन

पीएम मोदी को हटाने की सीएम नीतीश की पहल का दिखा असर, उत्तर प्रदेश में अखिलेश ने पोस्टर लगाकर किया समर्थन

पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भाजपा से मुकाबला करने के लिए विपक्षी दलों को एक साझा मंच पर लाने के प्रयासों के तहत तीन दिनों के दिल्ली के दौरे पर आए। वे वहां विपक्ष के 11 नेताओं से मिले जिसमें समाजवादी पार्टी के संस्थापक और वयोवृद्ध नेता मुलायम सिंह यादव, भारतीय राष्ट्रीय लोक दल के ओम प्रकाश चौटाला, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के शरद पवार सहित कई अन्य विपक्षी दलों के नेताओं के नाम शामिल थे। नीतीश कुमार की विपक्षी एकता वाले अभियान का थोड़ा असर अब दिखने भी लगा है। राजनीतिक लिहाज से सबसे अहम राज उत्तर प्रदेश से कुछ ऐसी ही तस्वीर सामने आई है। समाजवादी पार्टी की तरफ से नीतीश कुमार और अखिलेश यादव के साथ वाला एक पोस्टर जारी किया गया है। 

समाजवादी पार्टी के कार्यालय के बाहर लगे इस पोस्टर में नीतीश और अखिलेश की तस्वीर लगी है और उसके ऊपर लिखा है- यूपी+बिहार= गयी मोदी सरकार। इस पोस्टर से साफ जाहिर हो रहा है कि समाजवादी पार्टी ने 2024 के लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी के खिलाफ चुनावी बिगुल फूंक दिया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ये पोस्टर समाजवादी पार्टी के नेता आईपी सिंह की तरफ से लगाया गया है। 

बता दें कि  25 सितंबर को पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवी लाल की जयंती है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव समेत अन्य दलों के कई नेता शामिल होंगे। इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के संरक्षक ओम प्रकाश चौटाला ने माकपा महासचिव सीताराम येचुरी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार को अपनी पार्टी की 25 सितंबर की रैली के लिए आमंत्रित किया है। हरियाणा के फतेहाबाद में ये रैली आयोजित की जाएगी।

नीतीश कुमार आने वाले दिनों में एक बार फिर से बिहार के बाहर विपक्षी दलों के नेताओं से मिल सकते हैं। इसमें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी और ओडिशा के मुख्यमंत्री और बीजू जनता दल सुप्रीमो नवीन पटनायक का नाम शामिल है. इसी तरहदक्षिण भारत के कुछ नेताओं से भी नीतीश मिल सकते हैं. इसमें सबसे अहम नाम तमिलनाडु के सीएम और द्रमुक प्रमुख स्टालिन का है. ऐसे में नीतीश कुमार की विपक्षी एकता को एक मंच पर लाने की पहल को पहला पड़ाव उत्तर प्रदेश में मिलता दिख रहा है जहाँ अखिलेश और नीतीश के पोस्टर एक साथ लगे हैं. 


Find Us on Facebook

Trending News