आसान नहीं होगी सीएम नीतीश की राह, भाजपा का ऐलान- सड़क से सदन तक महागठबंधन सरकार के खिलाफ तैयार है प्लान

आसान नहीं होगी सीएम नीतीश की राह, भाजपा का ऐलान- सड़क से सदन तक महागठबंधन सरकार के खिलाफ तैयार है प्लान

पटना. नीतीश कुमार ने भले महागठबंधन के साथ जाकर बिहार में नई सरकार बना ली हो. लेकिन, सीएम नीतीश की राह को भाजपा आसान रहने नहीं देना चाहती. इसके लिए भाजपा ने पूरी तैयारी कर ली है और आने वाले दिनों में सड़क से सदन तक नीतीश सरकार के खिलाफ भाजपा का जोरदार संघर्ष देखने को मिलेगा. बिहार विधान परिषद में मुख्य विपक्षी नेता बनाए गए भाजपा के सम्राट चौधरी ने गुरुवार को बड़ा ऐलान किया. 

उन्होंने कहा कि भाजपा ने उन्हें विधान परिषद में मुख्य विपक्षी नेता बनाकर बड़ी जिम्मेदारी दी है. पार्टी ने उन्हें जो महत्वपूर्ण कार्य दिया है उसे वे निभाएंगे और नीतीश सरकार के खिलाफ संघर्ष करेंगे. उन्होंने कहा कि बिहार की जनता का काम नहीं करने वाली नीतीश सरकार के खिलाफ भाजपा सड़क से सदन संघर्ष करने के लिए तैयार है. सरकार जो काम नहीं करेगी उसे हम कराने के लिए उन पर निरंतर दबाव बनाएंगे. 

सम्राट ने कहा कि वे नीतीश कुमार सहित महागठबंधन से जुड़े नेताओं को पिछले 27-28 सालों से भलीभांति जानते हैं. सबके काम करने के तरीके से अवगत हैं. इसलिए इन लोगों के खिलाफ विधान परिषद में विपक्ष के नेता के रूप में सहित हर तरीके से जनता की आवाज को बुलंद करेंगे.  


एक दिन पहले ही भाजपा ने विधानमंडल में विपक्ष के नेताओं की घोषणा की. विधानसभा में विजय कुमार सिन्हा को और विधान परिषद में सम्राट चौधरी को मुख्य विपक्षी नेता बनाया गया. इनके माध्यम से पार्टी ने न केवल जातीय समीकरण को साधा, बल्कि सत्ता पक्ष को भी स्पष्ट संदेश दिया कि वे सड़क से सदन तक सरकार को घेरेंगे. विजय सिन्हा भूमिहार तो सम्राट कुशवाहा जाति से आते हैं. 


Find Us on Facebook

Trending News