आर-पारः दिल्ली में बोले CM नीतीश- जातीय जनगणना देशहित में, अपने निर्णय पर पुर्नविचार करे केंद्र सरकार, हम बिहार जाकर करेंगे विचार

आर-पारः दिल्ली में बोले CM नीतीश- जातीय जनगणना देशहित में, अपने निर्णय पर पुर्नविचार करे केंद्र सरकार, हम बिहार जाकर करेंगे विचार

PATNA:  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिल्ली में हैं। आज नक्सलवाद पर गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक थी। गृह मंत्री के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने मीडिया से बात की । सीएम नीतीश ने एक बार फिर से जातिगत जनगणना कराने की मांग को दुहराया। मुख्यमंत्री साफ कहा कि हमलोगों ने जातीय जनगणना की बात कही है वो बिल्कुल सही है। हमलोग शुरू से कह रहे हैं कि जातीय जनगणना होनी चाहिए। जब गणना हो जाएगी तो सबकुछ साफ हो जाएगा। 

उन्होंने कहा कि 2011 में ठीक से जाति की जनगणना नहीं हुई। जातीय जनगणना अगर होगा तो ठीक से होगा, हर घर से पूरी जानकारी लेंगे तो सारी बात स्पष्ट हो जाएगी। ऐसी कोई जाति नहीं जिसमें उपजाति नहीं है। अगर जाति के आधार पर गणना नहीं होती है तो हम लोग इसे कतई सही नहीं मानते. बिहार के सारे दल के लोगों ने जातीय जनगणना की मांग किया है। इस मुद्दे को विधानमंडल से सर्वसम्मति से पास किया गया है। हम तो यही आग्रह करेंगे कि फिर से निर्णय पर पुर्नविचार करें और जातीय जनगणा करायें। हमलोगों बिहार में एक बार फिर से बैठेंगे और विचार करेंगे। हर किसी को मालूम है कि हमलोगों की इच्छा क्या है?  जातीय जनगणना देशहित में है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से जब पूछा गया कि अगर केंद्र सरकार आपकी मांग नहीं मानी तो क्या अलग होंगे ? इस पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह तो अलग और आगे की बात है। क्या देश भर की पार्टियों को इस मुद्दे पर एक करेंगे? इस पर उन्होंने कहा कि यह तो अलग बात है। पहले हम बिहार में बैठेंगे और इस पर विचार करेंगे। 

Find Us on Facebook

Trending News