रामचरितमानस विवाद पर पहली बार बोले सीएम नीतीश, राजद नेता को दे दिया बड़ा सुझाव ... अब क्या करेंगे तेजस्वी

रामचरितमानस विवाद पर पहली बार बोले सीएम नीतीश, राजद नेता को दे दिया बड़ा सुझाव ... अब क्या करेंगे तेजस्वी

पटना. रामचरितमानस विवाद पर पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने राज्य के शिक्षा मंत्री डॉ चंद्रशेखर को हिदायत दी है कि किसी भी धर्म के बारे में इस तरह का बयान देना, उस पर टिप्पणी करना बिल्कुल गलत है और ऐसा नहीं होना चाहिए. डॉ चंद्रशेखर ने रामचरितमानस पर विवादित टिप्पणी की थी. इसे लेकर जदयू और राजद में रार शुरू हो गया है. जदयू के कई नेताओं ने उनके इस बयान पर आपत्ति जताई है. और अब इसी क्रम में सीएम नीतीश ने भी अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. 

दरअसल, नीतीश कुमार से चंद्रशेखर के बयान पर सवाल पूछा गया था\.। उन्होंने कहा कि धर्म के मामले में किसी को हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए. सब अपने तरीके से धर्म का पालन करते हैं. सभी धर्मों को इज्जत मिलनी चाहिए. जिसको जिनकी पूजा करनी है, वह करें. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अब तो डिप्टी सीएम ने भी कह दिया है. चंद्रशेखर के बयान को लेकर भाजपा जबरदस्त तरीके से राज्य और नीतीश सरकार पर हमलावर है. वहीं, दूसरी ओर जदयू का आरोप है कि चंद्रशेखर के इस बयान से भाजपा को फायदा होगा. यही कारण है कि ज्योति उन्हें भी चंद्रशेखर से उनके बयान पर माफी की मांग कर दी है.

रामचरितमानस विवाद से नीतीश कुमार की पार्टी शुरू से राजद पर हमलावर है. चंद्रशेखर पर कार्रर्वाई की मांग को लेकर कई जदयू नेता बयान दे चुके हैं. हालांकि राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने पहले ही चंद्रशेखर पर कार्रवाई की बातों को टाल दिया है. वहीं उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी इसे लेकर गंभीर नहीं दिख रहे हैं. उन्होंने भी इस बात को ज्यादा तूल नहीं देने की बात कही है. 


Find Us on Facebook

Trending News