सीएम नीतीश कुमार ने किया एलान, रघुवंश बाबू के हर सपने को करेंगे पूरा

सीएम नीतीश कुमार ने किया एलान, रघुवंश बाबू के हर सपने को करेंगे पूरा

Patna : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिवंगत  पूर्व केन्द्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद के हर सपने को पूरा किये जाने का एलान किया है। बिहार विधान परिषद में रघुवंश बाबू के पार्थिव शरीर के पहुंचने के बाद सीएम नीतीश कुमार उन्हें श्रद्धांजली देने पहुंचे थे।

 श्रद्धांजलि देने के बाद सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि रघुवंश प्रसाद सिंह की लोकप्रियता पूरे बिहार में रही है।  विभन्न स्थल पर उन्होंने जो काम किया सराहनीय है. चाहे वो एमएलए रहे हो, एमएलसी, एमपी या फिर केंद्र में मंत्री रहे हो. उनकी भूमिका हमेशा सराहनीय रही है. बिहार की समस्या को लेकर वे हमेशा आवाज उठाते थे। 

सीएम ने कहा तीन दिनों पहले उन्होंने  हमें पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने काबुल में पड़े बुद्ध के भिक्षापात्र को बिहार लाने की बात की थी। हमने इस संबंध में उन्हें जवाब देते हुए केन्द्र सरकार को पत्र लिख दिया है। वहीं उन्होंने कहा कि उनके गांव जाने वाली सड़क का नामकरण उनके नाम पर किया जायेगी। 

सीएम ने कहा कि रघुवंश बाबू ने बिहार के लिए जो काम किया उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है। उन्होंने बिहार के विकास के लिए काफी कुछ किया है।  उनका निधन बिहार के लिए एक अपूरणिय क्षति है। उन्होंने बिहार के लिए जो भी सपना देखा था उसे वे पूरा करेंगे। 

बता दें निधन से 3 दिन पहले रघुवंश सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखा था. पत्र में वैशाली के विकास की बात थी. आज उनके निधन के बाद पीएम मोदी ने सीएम नीतीश को सलाह दी कि अपने जीवन के अंतिम क्षणों में रघुवंश बाबू ने विकास को लेकर जो पत्र लिखे हैं उस पर अमल करने की जरूरत है.

इसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तरफ से यह बताया गया है कि उनके पत्र का जवाब 11 सितंबर को ही दिया गया था. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रघुवंश बाबू को लिखे पत्र में कहा है कि भगवान बुद्ध के काबुल संग्रहालय अफगानिस्तान में रखे पवित्र भिक्षा-पात्र को वैशाली लाने के लिए कार्रवाई करने के संबंध में अनुरोध पत्र आपका प्राप्त हुआ. पूर्व में भी आपने वैशाली की मिट्टी स्तूप से 1950 के दशक में उत्खनन के दौरान मिले भगवान बुद्ध की पवित्र अस्थि अवशेष जो अभी पटना संग्रहालय में प्रदर्शित है, को वैशाली में रखने का अनुरोध किया था. राज्य सरकार द्वारा भगवान बुद्ध की पवित्र अस्थि अवशेष को वैशाली में प्रदर्शित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के बुद्ध सम्यक दर्शन संग्रहालय स्मृति स्तूप की योजना क्रियान्वित की जा रही है. राज्य सरकार द्वारा करीब 300 करोड़ की लागत से बनने वाले इस संग्रहालय के पूर्ण होने पर भगवान बुद्ध के पवित्र अवशेष को गरिमा पूर्ण तरीके से वैशाली में ही प्रदर्शित किया जाएगा.

Find Us on Facebook

Trending News