कार्यस्थगन प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान बोले सीएम, बच्चों की मौत दुर्भाग्यपूर्ण, बीमारी पर काबू पाने के लिए किया गया है हर संभव प्रयास

कार्यस्थगन प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान बोले सीएम, बच्चों की मौत दुर्भाग्यपूर्ण, बीमारी पर काबू पाने के लिए किया गया है हर संभव प्रयास

PATNA : बिहार विधानसभा में विपक्ष द्वारा चमकी बुखार को लेकर लाए गए कार्यस्थगन प्रस्ताव को लेकर सीएम नीतीश कुमार ने विपक्ष के हर सवाल का जवाब दिया। 

उन्होंने कहा कि चमकी बुखार से हुई बच्चों की मौत बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण बात है। सरकार इस मामले को लेकर काफी गंभीर रही है और इसकी रोकथाम के लिए हर संभव प्रयास किये गये है। 

सीएम ने कहा कि जब वे मुजफ्फरपुर एसकेएमसीएच का दौरा किये तो वहां के हालात देखकर दंग रह गये थे। हमने तत्काल स्वास्थ्य विभाग को कहा कि AESU के बेडो की संख्या को बढ़ाया जाए और इसके लिए जेल के कैदियों के लिए बने वार्ड को खत्म कर वहां तत्काल चमकी बुखार से पीड़ित बच्चों के इलाज के लिए बेडो की व्यवस्था की गई। 

उन्होंने कहा कि दौरे के दौरान उन्होंने पाया कि इस बीमारी से पीड़ित होने वाले बच्चों में बच्चियों की संख्या ज्यादा थी और सभी गरीब परिवार से थे। मैने इस मामले को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की और इसपर चर्चा की कि आखिर वे कौन से कारण है कि इस बीमारी की चपेट में गरीब परिवार के बच्चे ही आते है। 

सीएम ने कहा कि इस बीमारी का पता लगाने के लिए हमने विशेषज्ञों की टीम बनाई है। वहीं इसका आर्थिक और समाजिक सर्वेक्षण कराने का निर्णय किया है। ताकि यह पता लगाए जा सके यह बीमारी किन क्षेत्रों से आती है और इसकी वजह क्या है। 

नीतीश कुमार ने कहा कि एक बात सामने आ रही है कि एस्वेस्टस से बने घरों में रहने वाले बच्चे इसकी चपेट में ज्यादा आए है। मैं शुरु से कहता रहा हूं कि  एस्वेस्टस एक बहुत ही हानिकारक चीज है। उन्होंने कहा कि गरीब परिवार को मकान बनाने के लिए अब 1.20 लाख रुपये मिल रहे है। लगता है कि जानकारी के अभाव में इसका लाभ उन्हें नहीं मिल पा रहा है। 

सीएम ने कहा कि कुदरत की मार पर काबू पाने का कोई दावा नहीं कर सकता है। इसके लिए कोई चाहे जो कह ले। हमने सभी को पीने के लिए स्वच्छ पानी उपलब्ध करा दिया है, लेकिन उसका सही उपयोग नहीं किया जा रहा है। हमें इसपर बहस और हंगामा करने से अच्छा होगा कि इसपर सहयोग कर रोकथाम और लोगों में जागरुकता फैलाने का काम करें। 

Find Us on Facebook

Trending News