वैष्णो देवी मंदिर में मची भगदड़ की जांच के लिए कमेटी गठित, मृतकों के परिवार को 12 लाख का मुआवजा

वैष्णो देवी मंदिर में मची भगदड़ की जांच के लिए कमेटी गठित, मृतकों के परिवार को 12 लाख का मुआवजा

SRINAGAR : नए साल की पहले दिन ही जम्मु कश्मीर के वैष्णो देवी मंदिर में मची भगदड़ ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। यहां अब तक 12 से अधिक लोगों की भागने के दौरान मौत होने की बात कही जा रही है। वहीं कई लोग घायल बताए जा रहे है। हादसे के बाद अब उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने माता वैष्णो देवी भवन में भगदड़ मचने के कारण हुई मौतों की जांच के लिए उच्च स्तरीय कमेटी गठित करने के आदेश जारी कर दिए हैं। जांच कमेटी की अध्यक्षता प्रिंसिपल सेक्रेटरी (गृह) करेंगे। इसके अलावा एडीजीपी जम्मू और डिवीजनल कमिश्नर जम्मू भी इसके सदस्य होंगे। यही नहीं उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने हादसे में जान गंवाने वाले श्रद्धालुओं के परिजनों को 10 लाख रुपए जबकि घायलों को 2 लाख रुपये देने का एलान भी किया है। 

प्रधानमंत्री ने भी जताया शोक, केंद्र से भी मुआवजा देने का ऐलान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर दुख जताया और भगदड़ में जान गंवाने वालों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि और घायलों को 50,000 रुपये देने का ऐलान किया है।  हादसे को लेकर प्रधानमंत्री ने कहा कि  'माता वैष्णो देवी भवन में मची भगदड़ में लोगों की मौत से अत्यंत दुखी हूं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय जी से बात की और स्थिति का हालात का जायजा लिया।' 


वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी माता वैष्णो देवी मंदिर में हुए हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने कहा, 'इस दुखद दुर्घटना से हृदय अत्यंत व्यथित है। मैंने जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा जी से बात की है। प्रशासन घायलों को उपचार पहुंचाने के लिए निरंतर कार्यरत है।

12 लोगों की मौत की पुष्टि

कटरा ब्लाक मेडिकल आफिसर डॉक्टर गोपाल दत्त ने अब तक भगदड़ में 12 लोगों की मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि मरने वालों में अधिकतर श्रद्धालु दिल्ली, पंजाब, हरियाणा से है। मरने वालों में जम्मू का भी एक श्रद्धालु शामिल है। वहीं घायलों की संख्या भी 20 से अधिक है। घायलों का इलाज नारायणा अस्पताल कटपा में किया जा रहा है।यह घटना आज शनिवार तड़के 2.30 बजे के करीब घटी। भगदड़ मचने के कारणों का अभी तक स्पष्ट रूप से पता नहीं चल पाया है परंतु सूत्रों का कहना है कि गेट नंबर 3 के बाहर दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं की लंबी कतार लगी हुई थी। नववर्ष पर माता वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए यहां हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचे हुए थे।  फिलहाल यात्रा को कटड़ा से रोक दिया गया है।

वहीं जम्मु कश्मीर उप राज्यपाल कार्यालय की तरफ से हेल्पालाइन नंबर भी जारी किया गया है।


Find Us on Facebook

Trending News