महागठबंधन में तकरार : कांग्रेस के पूर्व सांसद ने राजद के सांसद को बताया ब्रीफकेस पॉलिटिक्स करनेवाला, पंचायत चुनाव जीतने की भी हैसियत नहीं

महागठबंधन में तकरार : कांग्रेस के पूर्व सांसद ने राजद के सांसद को बताया ब्रीफकेस पॉलिटिक्स करनेवाला, पंचायत चुनाव जीतने की भी हैसियत नहीं

KATIHAR :एक तरफ बिहार विधानसभा में भाजपा के खिलाफ महागठबंधन में कांग्रेस और राजद के नेता एक दूसरे का समर्थन करते हुए नजर आते हैं। वहीं दूसरी तरफ कटिहार में दोनों पार्टियों के बीच तकरार अब खुलकर सामने आ गई है। दोनों पार्टियों की तरफ आरोप प्रत्यारोप किए जा रहे हैं। इस आरोप प्रत्यारोप में एक तरफ हैं राजद के राज्य सभा सांसद अशफाक करीम, वहीं दूसरी तरफ कांग्रसे के पूर्व सांसद व राष्ट्रीय महासचिव तारीक अनवर का गुट। जिसमें राजद सांसद पर सीधा हमला करते हुए उन्हें ब्रीफकेस की राजनीति करनेवाला नेता बताया है। 

इस मामले पर दोनों पार्टियों में है तकरार

दो दिन पहले शरीफगंज में कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष सहित लगभग दो दर्जन कांग्रेस कार्यकर्ता कटिहार से राजनीति करने वाले कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव तारिक अनवर से नाराजगी जताते हुए राजद का दामन थाम लिया था, इसमें अधिकतर कार्यकर्ता अल्पसंख्यक समुदाय से है।  राजद के राज्यसभा सांसद अहमद अशफाक करीम के मौजूदगी में कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष सहित दो दर्जन कांग्रेस कार्यकर्ताओ ने कांग्रेस छोड़कर राजद के दामन थामने पर राजद के राज्यसभा सांसद अशफाक करीम ने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव तारीक अनवर पर करारा प्रहार किया था और उन्हें अल्पसंख्यकों की राजनीति करनेवाला नेता करार दिया था। 

पंचायत चुनाव भी नहीं जीत सकते करीम

अब इसी पर तारीक अनवर की गैरमौजूदगी में कांग्रेस के नेताओं ने इस पर राजद के राज्यसभा सांसद अहमद अशफाक करीम पर करारा जबाब दिया है, कांग्रेस के तरफ से पूर्व सांसद तारीक अनवर के मुख्य प्रवक्ता शंकर सिंह ने राज्यसभा सांसद को गठबंधन धर्म के पालन करने की नसीहत देते हुए कहां की अशफाक करीम को तारीक अनवर फोबिया हो गया है, आगे उन्होंने करारा वार करते हुए कहा कि राज्यसभा सांसद जनाब अशफाक करीम "ब्रिफकेश(सुटकेस) पॉलिटिक्स" के सहारे राज्यसभा सांसद बने हैं, मुखिया चुनाव जीतने की भी उनकी क्षमता नहीं है, ऐसे में अगर वह ऐसे हरकतों से बाज नहीं आते हैं तो महागठबंधन में रहने के बावजूद कांग्रेस कार्यकर्ता राजद के राज्यसभा सांसद के खिलाफ सड़क पर उतरेंगे।

कुल मिलाकर प्रदेश की राजनीति में दोस्ती और जिले की राजनीति में महागठबंधन में महा तकरार से राजनीति के जानकार इसे मजबूरी का गठबंधन बता रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News