राजद से दो-दो हाथ करने को तैयार है कांग्रेस ! तेजस्वी को 'सबक' सीखाने के लिए दोनों सीटों पर उम्मीदवार उतारने की तैयारी, कल होगा कैंडिडेट का ऐलान

राजद से दो-दो हाथ करने को तैयार है कांग्रेस ! तेजस्वी को 'सबक' सीखाने के लिए दोनों सीटों पर उम्मीदवार उतारने की तैयारी, कल होगा कैंडिडेट का ऐलान

PATNA : बिहार में 2 सीटों पर होने वाले विधानसभा के उपचुनाव को लेकर महागठबंधन में जंग छिड़ गई है। उप चुनाव में महागठबंधन पूरी तरह से छिन्न-भिन्न होने के कगार पर पहुंच गया है। राजद ने कांग्रेस को ठेंगा दिखाते हुए दोनों सीट से अपना उम्मीदवार उतारने का ऐलान कर दिया। आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने पार्टी दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इन नामों का ऐलान किया. अब बारी कांग्रेस की है। इस बार कांग्रेस पीछे हटने के मूड में नहीं दिख रही । अब तक कांग्रेस पार्टी केवल एक सीट कुशेश्वरस्थान मांग रही थी। वो सीट कांग्रेस की परंपरागत रही है . 2020 विस चुनाव में भी महागठबंधन में सीट बंटवारे कुशेश्वर स्थान से कांग्रेस के खाते में थी। इसी आधार पर इस बार भी कांग्रेस दावेदारी कर रही थी। 

दोनों सीट पर कांग्रेस देगी उम्मीदवार

जेडीयू के सीटिंग विधायक शशिभूषण हजारी के निधन से खाली हुई कुशेश्वरस्थान सीट पर उप चुनाव हो रहे हैं. जेडीयू ने शशिभूषण हजारी के बेटे को चुनावी मैदान में उतारा है। वहीं राजद ने कांग्रेस की मांग को सिरे से खारिज करते हुए गणेश भारती को वहां से उम्मीदवार बना दिया है। राजद के इस निर्णय के बाद कांग्रेस भी तैयारी में जुट गई है। जो कांग्रेस पहले एक सीट पर उम्मीदवार उतारने की तैयारी कर रही थी वो अब दोनों सीट पर अपना प्रत्याशी देगी। यानी राजद और कांग्रेस दोनों पार्टियां दोनों पर सीट पर चुनाव लड़ेंगी। 

सोमवार को नाम का ऐलान 

बिहार कांग्रेस की तरफ से जो जानकारी मिली है उसके अनुसार आज शाम तक कांग्रेस दोनों सीट पर अपने उम्मीदवार तय कर लेगी। कुशेश्वरस्थान विस सीट से नाम करीब-करीब तय है । वहां से अशोक राम एक बार फिर से कैंडिडेट होंगे। 2020 में भी कांग्रेस ने इन्हें ही उम्मीदवार बनाया था । वहीं तारापुर सीट पर आज शाम तक नाम तय होने की संभावना है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कांग्रेस पार्टी सोमवार को दोनों सीट से कैंडिडेट की घोषणा करेगी। दरअसल, जिस तरीके से राजद ने कांग्रेस की मांग को सिरे से खारिज किया है उससे नेतृत्व काफी गुस्से में है। पीछे न हटने और तेजस्वी यादव को सबक सीखाने के लिए नेतृत्व दोनों सीटों पर प्रत्याशी देने का मन बनाया है।


Find Us on Facebook

Trending News