कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार पर लगाया आरोप, कहा आज़ादी के बाद पहली बार खाद्य सामग्री पर लगा टैक्स

कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार पर लगाया आरोप, कहा आज़ादी के बाद पहली बार खाद्य सामग्री पर लगा टैक्स

GAYA : आज से अनाज, आटा, दाल, चावल, दही, पनीर आदि रोजमर्रा के खाने, पीने के सामानों पर टैक्स लगाने का काम भाजपा सरकार द्वारा शुरू कर दिया गया है। जिससे गरीब और मध्यवर्गीय परिवार जो पहले से ही बढ़ती मंहगाई से त्राहि, त्राहि कर रहे थे। अब उनका हाल बेहाल हो गया है।


अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य सह क्षेत्रीय प्रवक्ता बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी प्रो. विजय कुमार मिठू, जिला अध्यक्ष चंद्रिका प्रसाद यादव, बाबूलाल प्रसाद सिंह , पूर्व विधायक मो खान अली, राम प्रमोद सिंह, विद्या शर्मा, शिव कुमार चौरसिया, अमरजीत कुमार, टिंकू गिरी, सैयद असरफ इमाम, डा अहमद हुसैन मक्की, विनोद उपाध्याय, श्रवण पासवान, बाल्मिकी प्रसाद, जगरूप यादव, जितेंद्र चौधरी, सुरेंद्र मांझी, अरुण कुमार पासवान आदि ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार भारत जैसे कृषि प्रधान देश में अनाज सहित सभी खाद्य सामग्रियों पर टैक्स लगा कर आमजन का कमर तोड़ने का काम किया गया है।

नेताओं ने कहा की आज से देश के हरेक परिवार के महीने भर के राशन में लगभग 1000 रुपया का इजाफा हो जाएगा। प्रत्येक घर के गृहिणियों पहले तो घरेलू गैस के बढ़ते दाम से बेहाल थी। अब आटा, चावल, दाल, दही, पनीर, घी सहित रोज उपयोग होने वाले सामग्रियों के बढ़ते दाम से उनके आंखों में आंसू छलक पड़े हैं। उन्होंने कहा की एक ओर हीरा पर केवल डेढ़ प्रतिशत टैक्स लगा रही है। जिसे देश के पांच प्रतिशत अमीर लोग ही खरीदते है। लेकिन सरकार गरीब और मध्यवर्गीय परिवार के नित्य दिन के भोजन की सामग्रियों पर पांच प्रतिशत टैक्स लगा कर भोजन तक छीनने का काम कर रही है।

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News