अग्निपथ को लेकर कांग्रेस नेता ने किया हमला, कहा सरकार ने युवाओं में असुरक्षा की भावना पैदा कर दी है

अग्निपथ को लेकर कांग्रेस नेता ने किया हमला, कहा सरकार ने युवाओं में असुरक्षा की भावना पैदा कर दी है

SUPAUL : अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे कांग्रेस नेता और सुपौल विधानसभा पूर्व प्रत्याशी ने कहा कि मिन्नत रहमानी देश में एक यह भी कानून बनना चाहिए कि एक आदमी पांच साल के लिए सीएम और पीएम बनेंगे। अग्निपथ स्कीम के खिलाफ छात्र युवाओं के विरोध ने हिंसा का रूप ले लिया है। आज देश जल रहा है,इन्हे रोकिये। युवाओं को बताइए कि हम फैसला वापस ले लिए है। मिन्नत रहमानी ने कहा कि पूरा देश एक तरफ है। सरकार ने युवाओं में असुरक्षा की भावना पैदा कर दी। उन्होंने आगे कहा कि जब जवानों को लगेगा कि हमारे लिए कोई सुविधा ही नहीं है तो हम देश के लिए जान क्यों दें? फौजी बनने में 12 से 13 महीने की ट्रेनिंग होती है जिसे 6 महीने कर दिया गया है। फिर चार साल तो सैनिक बनने में लग जाता है। फिर चार साल में रिटायर कर देंगे। 

मिन्नत रहमानी ने कहा कि सरकार रोजगार के नाम पर जुमलेबाजी कर रही है। साल 2020 से 2022 में लोगों की बहाली नहीं हुई। सरकार को चाहिए था कि इस स्कीम को छोटे स्तर पर लाकर देखती। लेकिन सरकार ने तीनों सेनाओं में ये स्कीम लागू कर दी। उन्होंने आगे कहा कि जब एक दिन के सीएम, पीएम, राज्यपाल, विधायक, सांसद को पेंशन मिल सकती है तो सैनिक को पेंशन क्यों नहीं मिलेगी? आप कानून बनाइये कि सिर्फ पांच साल के लिए सीएम और पीएम बनेंगे। बाद में कोई सुविधा नहीं मिलेगी। क्या सरकार सांसदों-विधायकों की पेंशन खत्म करेगी? मिन्नत रहमानी ने कहा कि जब फौजी को ये पता होगा कि उसके लिए किसी तरह की कोई सुविधा नहीं है तो क्या वो देश के लिए जान देगा? क्या वो सही मायनों में सैनिक बन पाएगा? क्या वो बचने की कोशिश नहीं करेंगे? 

उन्होंने कहा की सरकार ने 16 करोड़ नौकरी का वादा किया था उन 16 करोड़ नौकरियों का क्या हुआ? कितने लोगों ने लॉकडाउन के बाद बेरोजगारी के चलते आत्महत्या कर ली। मिन्नत रहमानी ने कहा कि एक तरफ हिंदू मुसलमान कराकर सरकार देश को जला रही है और प्रदर्शनकारियों को दंगाई कह रही है। सरकार को तुरंत ये फैसला वापस लेना चाहिए और सैनिकों के पेंशन का प्रावधान जारी रखना चाहिए। ये फैसला सैनिक के आत्मसम्मान पर चोट है और देश की सुरक्षा पर सवाल खड़ा करने वाला है जो बिलकुल नहीं चलेगा। मिन्नत रहमानी ने कहा की कांग्रेस पार्टी किसी भी हिंसा का समर्थन नहीं करता है, कांग्रेस पार्टी का इतिहास रहा कि जब -जब आंदोलन हुआ है,तब तक हमने गांधी की रास्ता को अपनाया है। कहां आज भी हम युवाओं को अपील करते हैं कि अपनी मांग शांतिपूर्ण रखें। किसी भी सरकारी संपत्ति को क्षति ना पहुंचाएं। कांग्रेस पार्टी आपके साथ है। 

सुपौल से पप्पू आलम की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News