प्रदेश में सुस्त पड़ी कांग्रेस करेगी पदयात्रा, निष्क्रिय नेताओं छीन ली जाएगी जिम्मेदारी

प्रदेश में सुस्त पड़ी कांग्रेस करेगी पदयात्रा, निष्क्रिय नेताओं छीन ली जाएगी जिम्मेदारी

PATNA : बिहार में राजनीतिक तौर पर सुस्त और निष्क्रिय पड़ी कांग्रेस के सक्रिय होने की सुगबुहाटर तेज हो गई है। लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद से पस्त पड़ी कांग्रेस अब संगठन को धार देने में छुटने की तैयारी कर रही है। सभी दलों के द्वारा लगातार चलाए जा रहे सदस्यता अभियान कार्यक्रम को देखते हुए कांग्रेस ने भी सदस्यता अभियान के जरिए नए लोगों को जोड़ने का मन बनाया है।

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा कांग्रेश के कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर दिशा निर्देश प्राप्त किया है। मदन मोहन झा ने गुरुवार को दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात कर प्रदेश कांग्रेस की स्थिति से अवगत कराया। वहीं बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल सह प्रभारी विरेंद्र राठौर और संगठन के महासचिव केसी वेणुगोपाल से भी प्रदेश कांग्रेस को मजबूत करने के लिए लंबी चर्चा की।

बताया जा रहा है कि इस चर्चा के दौरान यह तय हुआ कि गांधी जी के जन्म दिवस के अवसर पर मोतिहारी से कांग्रेश विभिन्न मुद्दों को लेकर पदयात्रा शुरू करेगी। पद यात्रा का मकसद होगा की प्रखंड स्तर तक के कार्यकर्ताओं को सरकार की विफलता के बारे में बताते हुए संगठन को मजबूत करना है।

बता दें कि कांग्रेश के कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी प्रदेश अध्यक्ष को आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाने का निर्देश दिया है और उसमें यह तय किया गया की पार्टी सीधे तौर पर जनता से संवाद करने की सक्रियता दिखाएं।

विधानसभा चुनाव को देखते हुए पार्टी ने तय किया है कि एनडीए सरकार की विफलताओं को लोगों तक पहुंचाया जाएगा। इतना ही नहीं सोनिया गांधी ने निर्देश दिया है कि पार्टी में वरिष्ठ से लेकर कनिष्ठ स्तर तक के निष्क्रिय पदाधिकारियों को चिन्हित कर उन्हें जिम्मेदारी से जल्द से जल्द मुक्त कर दिया जाए।


Find Us on Facebook

Trending News