विधानसभा चुनाव में शिक्षा और स्वास्थ्य होगा कांग्रेस पार्टी का मुद्दा, पढ़िए पूरी खबर

विधानसभा चुनाव में शिक्षा और स्वास्थ्य होगा कांग्रेस पार्टी का मुद्दा, पढ़िए पूरी खबर

GAYA : आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में अब कुछ महीने ही शेष बचे हैं. इसके मद्देनजर सभी रजनीतिक पार्टियां रणनीति बनाने में जुट गयी है. गया अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य सह मगध प्रमंडल कांग्रेस प्रवक्ता प्रो विजय कुमार मिठू, बाबूलाल प्रसाद सिंह, अशोक सिंह, बैजू प्रसाद, अमरजीत कुमार, शिव कुमार चौरसिया, श्रीकांत शर्मा, राम प्रवेश सिंह, प्रो अरुण कुमार प्रसाद, डॉ मदन कुमार सिन्हा, डॉ अनिल कुमार सिन्हा आदि ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश सरकार के कार्यकाल में खस्ताहाल " शिक्षा एवम् स्वास्थ्य " को कांग्रेस पार्टी मुख्य चुनावी मुद्दा बनाएगी.

नेताओ ने कहा की कोरोनावायरस महामारी संकट में सूबे बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल पूरी तरह खुल गई. आम जन बेहतर इलाज के लिए दर, दर की ठोकरें खा रहे है. विगत पांच महीने से कॉरोना महामारी में रोंगटे खड़े करने वाले दृश्य सरकारी अस्पताल, स्वास्थ्य केंद्रों से आ रहे है. 


नीति आयोग ने भी बिहार के स्वास्थ्य व्यवस्था को देश के अन्य राज्यो की तुलना में सबसे नीचे बताया है. नेताओ ने कहा की जहां तक शिक्षा व्यवस्था का सवाल है. राज्य में प्राथमिक, मध्य, माध्यमिक, उच्च, उच्चतर माध्यमिक, इंटर, डिग्री, स्नातकोत्तर में शिक्षकों की घोर कमी है. राज्य सरकार विगत कई वर्षों से बहाली बंद किए हुए है. जो बहाली निकला भी वह उच्च न्यायालय के आदेश से बंद है. उन्होंने कहा की सरकार बहाली में केवल टाल, मटोल कर रही है. सूबे के सभी विश्वविद्यालयों की परीक्षा का सत्र दो वर्ष पीछे चल रहा है. वित्त रहित हजारों शिक्षण संस्थानों के शिक्षक एवं अन्य कर्मचारियों की हालत बहुत खराब है.

नेताओ ने कहा की सूबे बिहार में प्राथमिक से उच्च शिक्षण संस्थानों में केवल केंद्र सरकार प्रायोजित कार्यक्रम ही नजर आता है. राज्य सरकार अपने स्तर से कुछ नहीं कर रही है. उल्टे इन संस्थानों में छात्रवृति, पोषक, मध्यनभोजन आदि में भारी अनियमितता एवं घोटाला है. 

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News